नांदेड़ में नहीं थम रहा मौतों का सिलसिला, 36 घंटे में 31 मरीजों की मौत, सुप्रिया सुले बोलीं- खूनी है शिंदे सरकार

नांदेड़ के सरकारी अस्पताल में मरीजों की मौत पर एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले ने राज्य सरकार की कड़ी आलोचना की और शिंदे सरकार को खूनी करार दिया।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

महाराष्ट्र के नांदेड़ के सरकारी अस्पताल में मरने वाले मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। पिछले 36 घंटे में 31 मरीजों की मौत हो चुकी है। इनमें 16 नवजात शामिल हैं। एक ही अस्पताल में इतने मरीजों की मौत होने पर राज्य सरकार सवालों के घेरे में है। विपक्ष लगातार सरकार से सवाल पूछ रहा है।

मरीजों की मौत पर एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले ने राज्य सरकार की कड़ी आलोचना की और शिंदे सरकार को खूनी करार दिया। उन्होंने कहा कि एकनाथ शिंदे की यह ट्रिपल इंजन की खूनी सरकार है। उन्होंने कहा कि ED,CBI और इनकम टैक्स का इस्तेमाल कर कोविड में अच्छा काम कर रही उद्धवजी की सरकार को गिराने का काम बीजेपी ने किया। जो जानें गईं हैं उसके लिए राज्य सरकार जिम्मेदार है।

सुले ने कहा कि मुख्यमंत्री को उस विभाग के मंत्री का इस्तीफा लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि कुल 31 मरीजों की जान जा चुकी है, जिसमें 16 नवजात बच्चे शामिल हैं। उन्होंने पूछा कि उन बच्चों की मां को आप क्या जवाब देंगे? एनसीपी नेता ने कहा कि इस मामले में राज्य सरकार पर केस दर्ज किया जाए। उन्होंने कहा कि मुझे ऐसा लग रहा है उन बच्चों का खून किया गया है। आखिर उनका क्या गुनाह था?

एनसीपी नेता शरद पवार ने भी राज्य सरकार की कड़ी आलोचना की। वहीं, कांग्रेस नेता विजय वेद्दतीवॉर ने राज्य सरकार पर आरोप लगाया कि ऐसा इसलिए हुआ है क्योंकि सरकार ने आपातकालीन मेडिकल की सप्लाई नहीं की है।

नांदेड़ के बाद छत्रपति संभाजी नगर के घाटी अस्पताल में 2 नवजात शिशुओं समेत 8 मरीजों की मौत की मौत हो गई है। कांग्रेस नेता ने कहा कि यह बेहद ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि कल की घटना के बाद भी प्रशासन सतर्क नहीं हुआ है। मैं मृतकों के परिवारों के दुख में शामिल हूं और अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;