चारधाम यात्रा: आज गौरीकुंड में विश्राम करेगी 'बाबा की उत्सव डोली', 6 मई को खुलेंगे केदारनाथ के कपाट

चारधाम यात्रा को लेकर समूचे देश में श्रद्धालुओं के बीच भारी उत्साह बना हुआ है। ऋषिकेश से 90 बसों में 3600 श्रद्धालु चारधाम यात्रा के लिए रवाना हुए।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

मंगलवार को गंगोत्री व यमुनोत्री के कपाट खुलने के साथ ही चार धाम यात्रा शुरू हो गई है। मंगलवार को बाबा केदार की उत्सव डोली फाटा से गौरीकुंड पड़ाव के लिए रवाना हुई। आज बुधवार को डोली गौरीकुंड में विश्राम करेगी और गुरुवार को केदार धाम के लिए रवाना होगी। केदारनाथ के कपाट छह मई को श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे। बदरीनाथ धाम के आठ मई को कपाट खुलेंगे।

चारधाम यात्रा को लेकर समूचे देश में श्रद्धालुओं के बीच भारी उत्साह बना हुआ है। ऋषिकेश से 90 बसों में 3600 श्रद्धालु चारधाम यात्रा के लिए रवाना हुए। परिवहन विभाग की ओर से अब तक 5627 ग्रीन कार्ड बनाए जा चुके हैं। जिनमें 2001 ग्रीन कार्ड ऋषिकेश से जारी हुए हैं। चारधाम यात्रा पर जाने के लिए ऋषिकेश में पिछले दो दिन से बड़ी संख्या में विभिन्न राज्यों से श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। प्रतिदिन यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ती जा रही है। वाहनों की जांच के लिए गंगोत्री हाईवे पर भद्रकाली और बदरीनाथ हाईवे पर ब्रह्मपुरी के पास परिवहन विभाग की चेकपोस्ट बनाई गई है। जिसमें प्रत्येक व्यावसायिक वाहन के ग्रीन कार्ड और अन्य प्रपत्र की जांच की जा रही है।

सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी प्रशासन अरविंद कुमार पांडे ने बताया कि हरिद्वार, रुड़की, ऋषिकेश और देहरादून क्षेत्र से बड़ी संख्या में श्रद्धालु, बस, मिनी बस, टैक्सी, टैक्सी आदि वाहनों के जरिये यात्रा पर जा रहे हैं। मंगलवार शाम ऋषिकेश से 90 बसों में करीब 3600 श्रद्धालु चारधाम यात्रा के लिए रवाना हुए। उन्होंने बताया कि ऋषिकेश से मंगलवार को 58 मैक्सी वाहन यात्रा पर गए जिनमें करीब 450 श्रद्धालु यात्रा पर रवाना हुए। सभी वाहनों को ऋषिकेश से ग्रीन कार्ड और ट्रिपकार्ड जारी किए गए हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia