रंग ला रही हैं छत्तीसगढ़ सरकार की उद्योग नीतियां, महामारी के बीच ज्यादा निजी निवेश पाने राज्यों में शीर्ष पर

छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार की उद्योग नीतियों के चलते छत्तीसगढ़ महामारी के दौरान सबसे ज्यादा निवेश पाने वाले राज्यों में में शीर्ष पर पहुंच गया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि उनकी सरकार ने उद्योगों के लिए नए रास्ते खोले हैं।

फोटो : @bhupeshbaghel
फोटो : @bhupeshbaghel
user

आईएएनएस

वैश्विक महामारी और आर्थिक मंदी के दौर में छत्तीसगढ़ देश में 10 सर्वाधिक निजी निवेश प्राप्त करने वाले राज्यों में शीर्ष पर पहुंच गया है। वित्तीय वर्ष 2020-21 की तीसरी तिमाही में छत्तीसगढ़ को विनिर्माण के लिए 10228 करोड़ के निजी निवेश के प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं। राज्य सरकार ने एक विज्ञप्ति में यह जानकारी दी है। सरकार ने कहा है, "राज्य ने अक्टूबर और दिसंबर 2020 के बीच 10,228 करोड़ रुपये की निवेश परियोजनाएं प्राप्त की हैं। यह दर्शाता है कि राज्य सरकार की नई औद्योगिक नीतियां निवेशक के अनुकूल हैं।"

पिछले दो वर्षो में छत्तीसगढ़ सरकार ने 42,000 करोड़ रुपये से अधिक के प्रस्तावित पूंजी निवेश के साथ राज्य में उद्योग स्थापित करने के लिए कुल 104 समझौता ज्ञापनों (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं। ये उद्योग छत्तीसगढ़ के युवाओं के लिए 64,000 से अधिक नए रोजगार के अवसर पैदा करेंगे। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, "हमारी सरकार ने उद्योगों के लिए नए रास्ते खोले और नई औद्योगिक नीति तैयार की, जिसके तहत खनिज आधारित उद्योगों को सभी तरह के प्रोत्साहन दिए गए हैं।"

राष्ट्रव्यापी बंद के दौरान छत्तीसगढ़ में उद्योग देश में सबसे पहले अप्रैल 2020 में फिर से शुरू हो गए थे। उद्योगों को होने वाली कठिनाइयों को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार द्वारा कई रियायतें और सुविधाएं दी गईं। कई महत्वपूर्ण सेक्टर्स के उद्योगों को बिजली के बिलों में भी सब्सिडी दी गई। सरकार ने कहा, "कच्चे माल की आपूर्ति और बाजार तक पहुंचने के लिए तैयार माल की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक इंतजाम किए गए हैं। छत्तीसगढ़ में अन्य राज्यों से कच्चे माल की आसान आपूर्ति के लिए भी दिशानिर्देश जारी किए गए हैं।"

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय
next