Getting Latest Election Result...

धोखा, नकल और बेईमानी एलडीएफ की पहचान, कांग्रेस ने केरल की विजयन सरकार पर बोला हमला

कांग्रेस ने कहा कि मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन ने केरल के प्रगतिशील मार्च को नष्ट कर दिया है। उन्होंने केरल के विकास की कहानी को पटरी से उतार दिया है और सीएम और पीएम के बीच एक गुप्त समझौते के माध्यम से बीजेपी के लिए जगह बनाई है।

फाइल फोटोः IANS
फाइल फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

केरल में 6 अप्रैल को होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले मंगलवार को कांग्रेस ने एलडीएफ की पिनारायी विजयन सरकार पर हमला बोलते हुए आरोप लगाया कि यह धोखा, नकल और बेईमानी की पहचान बन गई है। कांग्रेस ने दक्षिणी राज्य केरल में एलडीएफ सरकार के पांच साल के शासन को 'विनाशकारी' करार दिया।

एक संयुक्त बयान में कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला, के.वी. थॉमस और मधु गौड़ यास्की ने पिनारायी विजयन पर केरल में सत्तावादी और निरंकुश सरकार चलाने का आरोप लगाया। उन्होंने बयान में कहा, "पिनारायी विजयन ने केरल के प्रगतिशील मार्च को नष्ट कर दिया है। उन्होंने केरल के विकास की कहानी को पटरी से उतार दिया है और सीएम और पीएम के बीच एक गुप्त समझौते के माध्यम से बीजेपी के लिए जगह बनाई है।"

कांग्रेस ने आरोप लगाया कि केरल में पिनारायी विजयन के नेतृत्व वाले एलडीएफ शासन ने राज्य की अर्थव्यवस्था को कमजोर कर दिया है, क्योंकि एलडीएफ नियम के तहत, केरल की विकास दर आधी हो गई है, जिससे राज्य कर्ज के जाल में फंस गया है। कांग्रेस ने कहा, "एलडीएफ शासन के पांच वर्षो में केरल का कर्ज 1,65,383 करोड़ रुपये बढ़ गया। इसलिए, राज्य के प्रत्येक व्यक्ति पर अब 94,698 रुपये का कर्ज है।"

कांग्रेस ने यह भी कहा कि एलडीएफ किसानों को धोखा दे रहा है, क्योंकि केंद्र और राज्य दोनों ही फसलों की खरीद नहीं कर रहे हैं। कांग्रेस नेताओं ने आरोप लगाया कि केरल में अनुसूचित जातियों के खिलाफ अपराध दर 28.2 प्रतिशत है, जो राष्ट्रीय दर 23 प्रतिशत से अधिक है। कांग्रेस ने आगे कहा कि पिनारायी विजयन के नेतृत्व वाली सरकार के पास दृष्टि की कमी है, क्योंकि सीएम के पास राजकोषीय स्वास्थ्य में सुधार या रोजगार के अवसर पैदा करने की कोई योजना नहीं है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia