छत्तीसगढ़ के CM बघेल का सवाल- देश में कोयला संकट नहीं तो, ट्रेनें क्यों की जा रही हैं रद्द

कोयले की कमी से ट्रेनें रद्द करने के रेलवे के फैसले पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने देश में अगर कोयले की कमी नहीं है तो ट्रेनें रद्द क्यों की जा रही हैं।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

कोयले की कमी से ट्रेनें रद्द करने के रेलवे के फैसले पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि देश में अगर कोयले की कमी नहीं है तो ट्रेनें रद्द क्यों की जा रही हैं।

सीएम बघेल ने शनिवार को राज्यों के मुख्यमंत्री, प्रधान न्यायाधीश और उच्च न्यायालयों के न्यायाधीश, देशभर की अदालतों के विषय पर हुए शामिल होने दिल्ली पहुंचे हैं। मीडिया से बात करते हुए सीएम बघेल ने कहा, अगर (कोयले की) कोई कमी नहीं है, तो यात्री ट्रेन सेवाएं क्यों बंद कर दी गईं? छत्तीसगढ़ से 23 मालगाड़ियां कैंसिल हुईं, फिर रेल मंत्री से बात की तो 6 ट्रेनें चलाई गईं।

दरअसल कोयले की कमी से ट्रेनें रद्द करने के रेलवे के फैसले पर विपक्षी दल कांग्रेस ने सवाल उठाए हैं। भूपेश बघेल से पहले पूर्व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने शनिवार को देश के कई राज्यों में बिजली की कटौती को लेकर सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कोयला, विशाल रेल नेटवर्क, थर्मल प्लांट्स की क्षमता जिसका पूरा इस्तेमाल भी नहीं हो रहा। फिर भी बिजली की भारी कमी है। मोदी सरकार को दोष नहीं दिया जा सकता है। यह कांग्रेस के 60 सालों के शासन के कारण हुआ है। चिदंबरम यहीं नहीं रुके, उन्होंने आगे ट्वीट किया और तंज कसते हुए लिखा, देश में गहराए संकट की वजह कोयला मंत्रालय, रेलवे मंत्रालय और ऊर्जा मंत्रालय बिल्कुल भी नहीं है। दोष उन विभागों के पूर्व कांग्रेसी मंत्रियों का है! मोदी हैं तो मुमकिन है


वहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी कई राज्यों में बिजली की भारी कटौती को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और केंद्र की मोदी सरकार से सवाल किया कि क्या उन्हें देश और जनता की फिक्र नहीं है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर मौन रहने का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार को बताना चाहिए कि आने वाले दिनों में बिजली की मांग और बढ़ने की स्थिति से निपटने के लिए उसकी क्या योजना है।

कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा ,मोदी जी, बिजलीघरों में कोयला नहीं है।ये कोई ब्रेकिंग न्यूज नहीं बल्कि हर दिन की 24 घण्टे की न्यूज है। देश भर में भीषण गर्मी के बीच भयंकर बिजली कटौती से हाहाकार मचा हुआ है। एक चौथाई से ज्यादा पॉवर प्लांट बंद पड़े हैं और 700 से अधिक ट्रेने रद्द हैं। ये कैसी नई अप्रोच है?


देश के कई हिस्सों में बिजली उत्पादन संयंत्र कोयला संकट का सामना कर रहे हैं। रेलवे ने इससे निपटने के लिए और कोयले की आपूर्ति के लिए कई करीब 670 पैसेंजर ट्रेनों को रद्द कर दिया है, ताकि कोयला ले जा रही माल गाड़ियों के फेरों को बढ़ाया जा सके।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia