चिन्मयानंद केस: पीड़िता की याचिका पर SC सुनवाई के लिए तैयार, दिल्ली कोर्ट में केस को ट्रांसफर करने की है मांग

पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाने वाली छात्रा ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर केस को लखनऊ से ट्रांसफर करने की अपील की है। याचिका में पीड़िता ने अपनी जान का खतरा बताया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बीजेपी के पूर्व सांसद स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ यौन शोषण का आरोप लगाने वाली पीड़िता ने सुप्रीम कोर्ट में गुहार लगाई है। पीड़िता ने अपनी याचिका में कोर्ट से इस केस को उत्तर प्रदेश से दिल्ली ट्रांसफर करने की मांग की है, जिस पर सुनवाई करने को सुप्रीम कोर्ट तैयार हो गया है। इस याचिका पर सुप्रीम कोर्ट 2 मार्च को सुनवाई करेगा।

साथ ही याचिका में पीड़िता ने यह भी कहा है कि उसकी जान को खतरा है। इसलिए इस केस को यूपी से बाहर ट्रांसफर करने की मांग करती है। कोर्ट ने पीड़िता से सुरक्षा के लिए पुलिस के पास जाने को कहा है। बता दें कि इलाहाबाद हाई कोर्ट से पिछले दिनों स्वामी चिन्मयानंद को जमानत मिल गई थी। इस मामले की जांच एसआईटी की टीम कर रही है।


गौरतलब है कि शाहजहांपुर में स्वामी शुकदेवानंद विधि महाविद्यालय में पढ़ने वाली छात्रा 23 अगस्त 2019 को अचानक अपने हॉस्टल से लापता हो गई थी। अगले दिन उसका एक वीडियो सामने आया था, जिसमें उसने स्वामी चिन्मयानंद पर शारीरिक शोषण और कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद करने का आरोप लगाया था। वीडियो वायरल होने के बाद हड़ंकप मच गया था।

इसके बाद छात्रा की पिता की ओर से बेटी के अपहरण और जान से मारने की धाराओं में स्वामी के खिलाफ केस दर्ज कराया गया था। जिसके बाद पुलिस ने राजस्थान से छात्रा को बरामद किया था। मामले में सुप्रीम कोर्ट ने खुद संज्ञान लिया था। इस केस की जांच के लिए एसआईटी गठित की गई। जांच के दौरान स्वामी को 20 सितंबर को गिरफ्तार कर लिया गया था। वहीं चिन्मयानंद ने आरोप लगाया था कि उसे ब्लैकमेल किया जा रहा है और उससे 5 करोड़ की मांग की जा रही है। जिसके बाद पुलिस ने एफआईआर दर्जकर छात्रा समेत कई लोगों को गिरफ्तार किया था।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia