शाहजहांपुर केस: चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाने वाली छात्रा SIT ‘हिरासत’ में, हो सकते हैं कई अहम खुलासे

बीजेपी नेता और गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद केस में रेप का आरोप लगाने वाली छात्रा को एसआईटी ने हिरासत में ले लिया है। रेप का आरोप लगाने वाली छात्रा के जबरन वसूली का आरोप है। इसी सिलसिले में पूछताछ के लिए पुलिस ने उसे कस्टडी में लिया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय राज्य गृहमंत्री चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाने वाली पीड़िता को एसआईटी ने अपनी हिरासत में ले लिया। खबरों के मुताबिक, लॉ छात्रा को पूछताछ के लिए पुलिस अपने साथ लेकर गई है। बता दें कि छात्रा और उसके तीन साथियों पर स्वामी चिन्मयानंद की ओर से रंगदारी वसूलने के प्रयास का मुकदमा दर्ज कराया गया था।

बीजेपी नेता चिन्मयानंद मामले में सोमवार को पीड़ित छात्रा को इलाहाबाद हाईकोर्ट से बड़ा झटका लगा था। हाईकोर्ट ने स्वामी चिन्मयानंद को ब्लैकमेल करने के आरोप में पीड़ित छात्रा को फौरी तौर पर कोई राहत देने से इन्कार कर दिया था।

गौरतलब है कि शाहजहांपुर के एलएलएम की छात्रा ने बीजेपी नेता चिन्मयानंद पर कई लड़कियों का यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया है। छात्रा ने कहा था कि चिन्मयानंद ने कई लड़कियों के जीवन को बर्बाद कर दिया है। जिस कॉलेज में छात्रा एलएलएम की पढ़ाई कर रही है। उस कॉलेज के बीजेपी नेता चिन्मयानंद निदेशक हैं। पीड़िता ने कहा था कि चिन्मयानंद कहता है कि कोई मेरा कुछ नहीं कर सकता है। मेरे पास सारे एविडेंस हैं। मेरी रिक्वेस्ट है कि आप मुझे इंसाफ दिलाइए।

इसके बाद पीड़िता और उसके परिवार ने जांच कर रही एसआईटी को चिन्मयानंद के खिलाफ एक-दो नहीं, बल्कि 43 वीडियो सौंपे थे। स्वामी चिन्मयानंद को 'ब्लैकमेलर' बताया था। पीड़िता ने दावा किया था, “चिन्मयानंद ने ही नहाते समय का मेरा (पीड़िता) वीडियो अपने विश्वासपात्र से तैयार करवाया था। वीडियो हाथ लगते ही चिन्मयानंद ने मुझे ब्लैकमेल कर हवस का शिकार बनाना शुरू कर दिया था।”

दूसरी ओर सोशल मीडिया पर एक वीडियो और उसकी तस्वीरें वायरल हुआ था, जिसमें एक उम्रदराज शख्स एक छात्रा से नंगे होकर मसाज करवा रहा था। ऐसा दावा किया गया था कि तस्वीरों में दिख रहे व्‍यक्ति स्‍वामी चिन्‍मयानंद ही हैं और मसाज करने वाली लड़की पीड़िता है।

Published: 24 Sep 2019, 5:01 PM
लोकप्रिय