25 मई से शुरू होगी डोमेस्टिक फ्लाइट्स, 7 सेक्शन में बांटे गए रुट्स, न्‍यूनतम और अधिकतम किराया तय

कोरोना लॉकडाउन के चलते करीब दो महीने तक बंद रहने के बाद 25 मई से घरेलू विमान सेवा शुरू होने जा रही है। इस दौरान कई तरह के नियम और शर्तें लागू होंगी, जिनका पालन करना होगा। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने इसको लेकर आज प्रेस कॉन्फ्रेंस की।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कोरोना लॉकडाउन के चलते करीब दो महीने तक बंद रहने के बाद 25 मई से घरेलू विमान सेवा शुरू होने जा रही है। इस दौरान कई तरह के नियम और शर्तें लागू होंगी, जिनका पालन करना होगा। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने इसको लेकर आज प्रेस कॉन्फ्रेंस की। सरकार की तरफ से टिकटों के दाम की अधिकतम सीमा तय कर दी गई, जिसका पालन सभी एयरलाइंस को करना होगा।

हरदीप पुरी ने कहा कि हमने अधिकतम और न्यूनतम किराया तय किया है। दिल्ली और मुंबई के केस में 90-120 मिनट की यात्रा के लिए न्यूनतम किराया 3500 रुपये होगा जबकि अधिकतम 10 हजार रुपये होगा। ये नियम एयरलाइंस पर तीन महीने के लिए लागू होगा। पुरी ने कहा कि एयरलाइंस को लेकर आज जो आदेश दिया गया है ये 24 अगस्त के 23 बजकर 59 मिनट तक लागू रहेगा।

नागरिक उड्डयन मंत्री ने कहा कि केबिन क्रू मेंबर्स को फुल प्रोटेक्टिव गियर में रहना होगा। सिर्फ एक चेक इन बैग की इजाजत दी जाएगा। यात्रियों को डिपार्चर समय से कम से कम दो घंटे पहले रिपोर्ट करना होगा। पुरी ने कहा कि इस बात को सुनिश्चित करने के लिए यात्री में कोविड-19 के कोई लक्षण नहीं है, आरोपी सेतू एप अनिवार्य होगा। आरोग्य सेतू में रेड स्टेटस दिखने वाले पैसेंजर को यात्रा की इजाजत नहीं दी जाएगी।

यात्रियों को प्रोटेक्टिव गियर पहनना होगा, फेस मास्क लगाना होगा और सेनिटाइजर बोटल साथ मे लेकर चलना होगा। एयरलाइंस की तरफ से यात्रा के वक्त खाना नहीं दिया जाएगा। पानी की बोतर सीट या फिर गैलरी एरिया में उपलब्ध रहेगी।

पुरी ने कहा कि हम 'वंदे भारत' अभियान के तहत विदेशों में फंसे 20,000 से अधिक भारतीय नागरिकों को विमानों से वापस लाए। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन प्रभावी साबित हुआ है, भारत उन देशों में शामिल है जहां कोरोना वायरस से मरने वाले लोगों की संख्या दुनिया में सबसे कम है।

हरदीप पुरी ने कहा कि घरेलू उड़ान को लेकर मेट्रो टू मेट्रो शहरों में कुछ नियम होंगे जबकि मेट्रो टू नॉन मेट्रो शहर के लिए अलग नियम होंगे। मेट्रो शहरों में दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई जैसे बड़े शहर शामिल होंगे। नागरिक उड्डनय मंत्री ने कहा कि शुरुआती तौर पर एयरपोर्ट का एक तिहाई हिस्सा ही शुरू होगा। सिर्फ 33 फीसदी विमानों को उड़ान की इजाजत दी गई है।

अभी पहला फेज़ अगस्त तक जारी रहेगा, हर किसी को आरोग्य सेतु ऐप रखनी होगी। केंद्रीय मंत्री ने बताया कि देश के रूट को सात रूट में बांटा जाएगा, जिसमें 30 मिनट, 40 मिनट, 60 मिनट, 90 मिनट, 120 मिनट, 150 मिनट, 180 मिनट और 210 मिनट के रूट में बांटा गया है।

लोकप्रिय