कालापानी के शहीदों की याद में स्मारक बनाएगी पंजाब सरकार, सीएम अमरिंदर ने किया ऐलान

अंडमान की सेलुलर जेल की अपनी यात्रा को याद करते हुए सीएम अमरिंदर ने कहा कि वह इस तथ्य से चकित थे कि उन्हें वहां की दीवारों पर उकेरा गया एक भी नाम नहीं पता था। उन्होंने कहा कि अब यह हमारा कर्तव्य है कि हम मातृभूमि के लिए उनके बलिदानों को उचित सम्मान दें।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने शनिवार को घोषणा की कि उनकी सरकार स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान विशेष रूप से अंडमान की सेलुलर जेल में अपने प्राणों की आहुति देने वाले अनगिनत गुमनाम नायकों को श्रद्धांजलि के रूप में जल्द ही एक स्मारक का निर्माण करेगी। आगामी स्मारक विशेष रूप से मिट्टी के पुत्रों को समर्पित होगा, जिन्हें कठोर सजा मिली थी, जिसे 'कालापानी' के नाम से जाना जाता था।

संगरूर जिले के सुनाम ऊधम सिंह वाला में राज्य स्तरीय समारोह में शहीद ऊधम सिंह स्मारक लोगों को समर्पित करने के बाद अपने संबोधन में मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा कि ऐसे देशभक्तों की पहचान के लिए प्रख्यात इतिहासकारों और विद्वानों द्वारा पहले ही काफी शोध किया जा चुका है और स्वतंत्रता सेनानी, विशेष रूप से पंजाब के रहने वाले, जिन्होंने देश के स्वतंत्रता संग्राम में बहुत बड़ा योगदान दिया था।


सूनामी के बाद अंडमान द्वीप में सेलुलर जेल की अपनी यात्रा को याद करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि वह इस तथ्य से चकित थे कि उन्हें वहां की दीवारों पर उकेरा गया एक भी नाम नहीं पता था, इन शहीदों की मृत्यु 'कालापानी' में अज्ञात रूप से हुई थी। मुख्यमंत्री ने कहा, "अब यह हमारा कर्तव्य है कि हम मातृभूमि के लिए दिए गए उनके बलिदानों को उचित स्थान और सम्मान दें।"

विशेष रूप से, अत्याधुनिक स्मारक, जिसमें शहीद उधम सिंह की आदमकद तांबे की मूर्ति के साथ-साथ चार पत्थरों के साथ पंजाबी और अंग्रेजी में उनके संक्षिप्त जीवन इतिहास और वीर कर्मों को उकेरा गया है और अवशेषों को प्रदर्शित करने वाला एक संग्रहालय है। 6.40 करोड़ रुपये की कुल लागत से महान शहीद के अस्थि कलश के अलावा दुर्लभ चित्रों, दस्तावेजों का निर्माण किया गया है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia