राजस्थानः पहलू खां मामले पर बोले सीएम गहलोत- बीजेपी सरकार की जांच पर हुई चार्जशीट, गड़बड़ी हुई तो फिर होगी जांच

राजस्थान में दो साल पहले गोतस्करी के आरोप में पहलू खान की हत्या मामले में नया मोड़ आ गया है। पुलिस ने चार्जशीट में पहलू खान और उनके दो बेटों को गोतस्करी का आरेापी बनाया है। मामले पर सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि अगर जांच में गड़बड़ी हुई तो फिर से जांच होगी।

फोेटोः सोशल मीडिया
फोेटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

गोतस्करी के आरोप में दो साल पहले राजस्थान के अलवर में पहलू खां की भीड़ द्वारा पिटाई और फिर अस्पताल में मौत का मामला एक बार फिर गर्मा गया है। राजस्थान पुलिस ने मामले में कोर्ट में चार्जशीट दाखिल किया है, जिसमें पहलू खां और उसके दो बेटों को गोतस्करी का आरेापी बनाया गया है। पुलिस ने पिछली सरकार में हुई जांच के आधार पर चार्जशीट दाखिल किया है।

इस चार्जशीट के बाद यह मामला एक बार फिर गर्मा गया। मामले पर तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं आने लगीं। मुद्दे पर राजनीति तेज होने पर खुद राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सामने आए। उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच पिछली सरकार में हुई थी और जांच पूरी होने पर चार्जशीट पेश की गई। उन्होंने जोर देकर कहा कि अगर जांच में कोई गड़बड़ी पाई गई तो फिर से जांच कराई जाएगी। उन्होंने कहा, “अपराधी कोई भी हो, उसे छोड़ा नहीं जाएगा।”

पुलिस की चार्जशीट में पहलू खान और उनके बेटों पर राजस्थान बोवाइन एनिमल एक्ट एंड रूल्स-1995 की धारा 5, 8 और 9 के तहत आरोप तय किए गए हैं। पहलू खान के बड़े बेटे 25 वर्षीय इरशाद का इस मामले पर कहना है कि गोरक्षकों के हमले में उन्होंने पिता को खो दिया और अब उन्हें ही गो तस्करी का आरोपी बनाया गया है।

बता दें कि एक अप्रैल, 2017 में अलवर में पहलू खान दो बेटों के साथ एक गाड़ी से मवेशियों को लेकर जा रहे थे, तभी गोरक्षकों की भीड़ ने उन पर हमला बोल दिया। इस दौरान भीड़ ने तीनों की बुरी तरह पिटाई की, जिससे बाद में पहलू खान की अस्पताल में मौत हो गई थी।

अब राजस्थान पुलिस की चार्जशीट में मरने के बाद भी पहलू खान का नाम शामिल किया गया है। यह चार्जशीट इस साल 29 मई को बहरोर के एडिश्नल चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट की कोर्ट में पेश दाखिल किया गया था। मिली जानकारी के अनुसार यह चार्जशीट 30 दिसंबर 2018 को तैयार की गई थी, जिसके महज कुछ ही दिन पहले राजस्थान में अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार सत्ता में आई थी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia