उत्तराखंड में सर्द मौसम का कहर जारी, पहाड़ों पर जमकर हुई बर्फबारी, बदरीनाथ हाईवे हुआ बंद

मौसम विभाग के मुताबिक गुरुवार और शुक्रवार को मैदानी इलाकों में थोड़ी राहत रहेगी, जबकि पर्वतीय इलाकों में कहीं-कहीं हल्की बारिश के साथ बर्फबारी की संभावना है। शनिवार और रविवार को बारिश होने की संभावना है। राज्य के कई जिलों में शीतलहर की पूरी संभावना है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

उत्तराखंड में लगातार गुरुवार को भी मौसम खराब रहा, जिससे राज्य में कड़ाके की ठंड का प्रकोप जारी है। आज सुबह राजधानी देहरादून सहित राज्य के अधिकतर इलाकों में बादल छाए रहे, हालांकि बाद में देहरादून में धूप खिल आई। लेकिन चारधाम सहित ऊंची चोटियां बर्फबारी से ढक गई हैं। मसूरी में भी तीसरे दिन भी घने बादल छाए रहे। शहर में शीतलहर का प्रकोप जारी है। चकराता, रुद्रप्रयाग, चमोली, उत्तरकाशी, बागेश्वर और पिथौरागढ़ के ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी जारी है। बदरी-केदार, गंगोत्री व यमुनोत्री धाम बर्फ के आगोश में हैं।

वहीं धनोल्टी में बुधवार रात को कुछ देर हल्की बर्फबारी हुई, लेकिन बर्फ टिक नहीं पाई, मसूरी में फिलहाल बर्फ नहीं पड़ी। टिहरी जिले के प्रतापनगर के सेम मुखेम और तहसील घनसाली के गंगी, पिंसवड़, गेवाली गांव में भी हल्की बर्फबारी हुई। श्रीनगर क्षेत्र में दो दिन बाद गुरुवार को हल्की धूप निकली, हालांकि घाटी में कोहरा छाया रहा। घुत्तू गंगी मोटर मार्ग रिह के समीप बर्फबारी से बंद हो गया है।


बदरीनाथ धाम में भारी हिमपात हुआ है। तप्त कुंड से लेकर मंदिर परिसर तक सफेद बर्फ की चादर बिछ चुकी है। चमोली जिले में औली, रैणी और ब्रह्मताल में बर्फबारी हुई है। रुद्रप्रयाग जिले में हल्के बादलों के बीच धूप खिली हुई है। केदारनाथ में लगभग दो फीट तक बर्फ जमा है। चोपता, तुंगनाथ सहित अन्य ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भी जमकर बर्फबारी हुई है।

बर्फबारी के कारण बदरीनाथ हाईवे भी बंद हो गया है । बदरीनाथ हाईवे बर्फबारी के कारण हनुमान चट्टी से आगे अवरूद्ध हो गया है। हनुमान चट्टी में करीब दो फीट तक बर्फ जम गई है। बर्फबारी से सेना और आईटीबीपी के वाहनों की आवाजाही थम गई है।

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक विक्रम सिंह के मुताबिक गुरुवार और शुक्रवार को मैदानी इलाकों में थोड़ी राहत रहेगी, जबकि पर्वतीय इलाकों में कहीं-कहीं हल्की बारिश के साथ बर्फबारी की संभावना है। शनिवार व रविवार को बारिश होने की संभावना है। राज्य के कई जिलों में शीतलहर की पूरी संभावना है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia