मध्य प्रदेश के रीवा में जमीन विवाद में सांप्रदायिक झड़प, मारपीट और पथराव में कई घायल

पुलिस के अनुसार इलाके के एक पूर्व बीजेपी पार्षद लवकुश गुप्ता ने विवादित जमीन पर निर्माण शुरू कराया था, जिस पर आपत्ति जताते हुए मुसलमानों के एक समूह ने दावा किया कि जमीन मस्जिद की है। दोनों पक्षों में बहस हुई और देखते ही देखते मारपीट और पथराव होने लगा।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

मध्य प्रदेश के रीवा जिले में भूमि विवाद को लेकर सांप्रदायिक झड़प में कई लोग घायल हो गए हैं। पुलिस ने गुरुवार को बताया कि दो समुदायों के लोग एक सरकारी भूखंड पर दावा करते हुए आपस में भिड़ गए। दोनों पक्षों में बहस बाद में सांप्रदायिक झड़प में बदल गया, जिसमें कई लोग घायल हो गए।

घटना जिला मुख्यालय रीवा से करीब 30 किलोमीटर दूर मंगवां इलाके में बुधवार को हुई। पुलिस के अनुसार, इलाके के एक पूर्व बीजेपी पार्षद लवकुश गुप्ता विवादित जमीन पर निर्माण शुरू करने वाले थे, जिसको लेकर मुसलमानों के एक समूह ने इस पर आपत्ति जताते हुए दावा किया कि जमीन मस्जिद की है। दोनों पक्षों में बहस के दौरान दोनों समुदाय के कई लोग वहां जमा हो गए और आपस में मारपीट करने लगे।


पुलिस ने मौके पर पहुंचकर स्थिति को नियंत्रित किया। एक स्थानीय पुलिस अधिकारी ने बताया कि इलाके में शांति सुनिश्चित करने के लिए भारी सुरक्षा व्यवस्था की गई है। पुलिस ने कहा कि दोनों समुदायों ने एक दूसरे पर लाठी से हमला और पथराव किया। सांप्रदायिक झड़प के दौरान घायल हुए लोगों को इलाज के लिए संजय गांधी मेमोरियल अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

मंगवां थाने में तैनात एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि दोनों समुदाय के लोगों ने एक-दूसरे के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए भारी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। मंगवां थाना प्रभारी निरीक्षक डी.के. दहिया ने कहा कि जमीन राज्य सरकार की है, जहां पिछले कई सालों से एक मंदिर और एक मस्जिद है।


बाद में रीवा के पुलिस अधीक्षक एस. नवनीत भसीन मौके पर पहुंचे और दोनों समुदायों के लोगों से बातचीत की। भसीन ने कहा कि मामले में 11 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। हमने राजस्व अधिकारियों से जमीन का सत्यापन करने का अनुरोध किया है। मामले में जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia