क्या ईवीएम से हो रहा है कोई बड़ा खेल, देश भर से आ रही हैं ईवीएम बदलने की शिकायतें, विपक्ष ने उठाए सवाल

देश भर में ईवीएम के साथ छे़ड़छाड़ की खबरों पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने प्रतिक्रिय दी है। उन्होंने बयान जारी कर कहा कि ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की खबरों से मैं चिंतित हूं। वहीं ईवीएम को लेकर देश के जाने माने वकील और आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता प्रशांत भूषण ने भी अपनी चिंता जाहिर की है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

लोकसभा चुनाव के मतगणना से पहले ईवीएम बदलकर गड़बड़ी की आशंका बढ़ती जा रही है। यूपी-बिहार समते देशभर से ईवीएम और वीवीपैट की अदला बदली से जुड़ी खबरें आ रही है। विपक्षी दल के नेता सवाल उठा रहे हैं, वहीं कार्यकर्ता हंगामा कर रहे हैं। राष्ट्रीय जनता दल की नेता और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने भी ईवीएम और वीवीपैट की आवाजाही पर सवाल उठाए हैं। राबड़ी देवी ने चुनाव आयोग पर भी निशाना साधा है।

राबड़ी देवी ने कहा है कि देशभर के स्ट्रॉन्ग रूम्स के आसपास ईवीएम की बरामदगी हो रही है। ट्रकों और निजी वाहनों में ईवीएम पकड़ी जा रही है। इसके बरे में किसी को कुछ नहीं पता। चुनाव आयोग भी कोई जवाब नहीं दे रहा। उन्होंने पूछा है कि क्या ये सब पहले से ही तय था?

राबड़ी देवी ने अपने ट्वीट में लिखा, “देशभर के स्ट्रॉन्ग रूम्स के आसपास ईवीएम की बरामदगी हो रही है। ट्रकों और निजी वाहनों में ईवीएम पकड़ी जा रही है। ये कहाँ से आ रही है, कहां जा रही है? कब, क्यों, कौन और किसलिए इन्हें ले जा रहा है? क्या यह पूर्व निर्धारित प्रक्रिया का हिस्सा है? चुनाव आयोग को अतिशीघ्र स्पष्ट करना चाहिए।''

देश भर में ईवीएम के साथ छे़ड़छाड़ की खबरों पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने प्रतिक्रिय दी है। उन्होंने बयान जारी कर कहा कि ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की खबरों से मैं चिंतित हूं। ईवीएम की सुरक्षा चुनाव आयोग की जिम्मेदारी है। आयोग को कुछ ऐसा करना चाहिए, जिससे इस तरह के कयासों पर विराम लगे।

वहीं ईवीएम को लेकर देश के जाने माने वकील और आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता प्रशांत भूषण ने भी अपनी चिंता जाहिर की है। प्रशांत भूषण ने कहा कि डर ईवीएम की हैकिंग को लेकर नहीं बल्कि उसके बदले जाने (स्वैपिंग) को लेकर है।

उन्होंने ट्वीट कर ईवीएम बदले जाने को लेकर कहा, 'तथाकथित रिजर्व ईवीएम को लेकर जो असामान्य तरीके अपनाए जा रहे हैं वो पक्षपातपूर्ण है और उसकी सुरक्षा को लेकर समझौता किया जा रहा है। जिस ईवीएम का चुनाव के लिए इस्तेमाल हो रहा है उसके बदले जाने का डर है'।

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने तो ईवीएम से छेड़छाड़ के लिए मोदी सरकार के दूसरे बालाकोट की तैयारी तक का अंदेशा जता दिया। मंगलवार सुबह उन्होंने ट्वीट किया कि 'ईवीएम स्विच करने की खबरें लगातार आ रही हैं, लेकिन अभी तक चुनाव आयोग की तरफ से कोई सफाई नहीं दी गई है। उन्होंने कहा कि जिस तरह एग्जिट पोल के बाद इस तरह की लहर बनाने की कोशिश हो रही है, ये एक तरह से दूसरे बालाकोट की तैयारी है'।

देश भर में ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की खबरों के बीच मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा ने महाराष्ट्र के मुख्य चुनाव अधिकारी को पत्र लिखा है। उन्होंने पत्र में लिखा, “मतगणना केंद्रों पर सतर्कता, सुरक्षा में बढ़ोतरी की जाए, ताकि किसी भी तरह से ईवीएम मशीनों के साथ छेड़छाड़ न हो”

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 21 May 2019, 5:13 PM