CAA पर गृहमंत्री के न्योते पर कांग्रेस का आह्वान- क्रोनोलॉजी बदलने से पहले मिल लें शाह से, फिर न मिलेगा मौका

कांग्रेस ने अमित शाह पर करारा कटाक्ष करते हुए कहा है कि इससे बेहतर अवसर नहीं मिलेगा। देश के गृहमंत्री ने आपको मिलने के लिए आमंत्रित किया है। आपकी उलझनों का जवाब देने के लिए वो तैयार हैं। अब आप भी उनसे मिलिए, लेकिन देर मत करना, वो क्रोनोलॉजी बदल सकते हैं।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पूरे देश के साथ विदेशों में सुर्खियां बना रहे शाहीन बाग आंदोलन के प्रदर्शनकारियों से मुलाकात के सवाल पर गृहमंत्री अमित शाह के रुख को लेकर कांग्रेस ने करारा कटाक्ष किया है। कांग्रेस ने कई ट्विट कर लोगों को ये बताने की कोशिश की है कि वे किस प्रक्रिया का इस्तेमाल कर अपने देश के गृहमंत्री से मुलाकात कर सकते हैं। एक ट्विट में कांग्रेस ने कहा, “इससे बेहतर अवसर नहीं मिलेगा। देश के गृहमंत्री ने आपको मिलने के लिए आमंत्रित किया है; आपकी उलझनों का जवाब देने के लिए वो तैयार हैं। अब आप भी उनसे मिलिए...लेकिन देर मत करना, वो क्रोनोलॉजी बदल सकते हैं।”

कटाक्ष की इस श्रंखला में अपने पहले ट्वीट में कांग्रेस ने कहा, “शायद देश के गृहमंत्री को सद्बुद्धि आई है। इस मौके को मत चूकिए... खुद गृहमंत्री आपसे मिलने को तैयार हुए हैं- बड़ी मुश्किल से। हम गृहमंत्री से मिलने के लिए जो भी आवश्यक जानकारी है, वो आपसे साझा कर रहे हैं। तो जाइए और गृहमंत्री से जवाब मांगिए।”

एक और ट्विट में कांग्रेस ने संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शनों में मारे गए लोगों का जिक्र करते हुए कहा, “जिन लोगों ने संविधान की रक्षा में अपने प्राणों की बलि दे दी, उनके बलिदान का हिसाब लेने के लिए देश के गृहमंत्री से समय मांगिए...ताकि आप जवाब मांग सको।”

संशोधित नागरिकता कानून और एनआरसी के खिलाफ लगातार शाहीन बाग में धरने पर बैठी महिलाओं के आंदोलन की तरफ इशारा करते हुए कांग्रेस ने कहा, “देश की नारी शक्ति आज अपने लिए, अपनी आने वाली पीढ़ी के अधिकारों के लिए लड़ रही है। उनकी आवाज़ को मजबूती देने के लिए देश के गृहमंत्री से जवाब मांगिए।”

अगले ट्वीट में कांग्रेस ने कहा है कि गृहमंत्री संविधान के उन अनुच्छेदों से अनभिज्ञ हैं, जिनका संशोधित नागरिकता कानून उल्लंघन करता है। कांग्रेस ने ट्वीट में कहा, “हमारे गृहमंत्री संविधान के प्रति पूरी तरह अज्ञानी हैं। एक जिम्मेदार नागरिक के नाते उनसे मिलने का समय लीजिए और उनको संविधान समझाइए।”

कांग्रेस ने सीएए के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान पुलिसिया दमन में 31 लोगों की मौत को लेकर भी अमित शाह पर हमला बोता। कांग्रेस ने कहा, “देश भर में कानून व्यवस्था चरमरा गई है। सरकार ने अत्यधिक बल और पुलिस बर्बरता का इस्तेमाल किया और असहमति की लोकतांत्रिक आवाजों को दबाया है। इस दौरान मारे गए लोगों सैकड़ों घायलों के लिए गृहमंत्री को जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए।

गौरतलब है कि बीते दिनों एक निजी चैनल पर गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि जिन लोगों को भी सीएए को लेकर कोई संदेह है, वे उनसे आकर मिल सकते हैं। इस निमंत्रण पर पिछले दो माह से शाहीन बाग में धरने पर बैठी महिलाएं 16 फरवरी को उनसे मिलने उनकी आवास की ओर निकल पड़ी थीं, लेकिन उन्हें रोक दिया गया था। इसके बाद फिर एक टीवी चैनल पर अमित शाह ने कहा कि जिस किसी को भी उनसे मिलना है, वो उनके ऑफिस से संपर्क कर सकता है, जिसके बाद तीन दिन में वह उससे मिलकर सभी मुद्दों का समाधान कर देंगे।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 18 Feb 2020, 7:03 PM