नागालैंड हिंसा पर कांग्रेस डेलिगेशन ने सोनिया गांधी को सौंपी रिपोर्ट, अमित शाह पर संसद में झूठ बोलने का आरोप

चार सदस्यीय कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल में महासचिव भंवर जितेंद्र सिंह, नागालैंड के प्रभारी महासचिव अजॉय कुमार, सांसद गौरव गोगोई और एंटो एंटोनी शामिल हैं, जिन्होंने नागालैंड का दौरा कर ये रिपोर्ट तैयार की है। कांग्रेस इस मामले पर कल प्रेस कॉन्फ्रेंस करेगी।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

भारत-म्यांमार सीमा के पास नागालैंड के मोन जिले में पिछले दिनों सैन्य गोलीबारी में 14 लोगों और एक सैनिक के मारे जाने की घटना को लेकर कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने गुरुवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को अपनी रिपोर्ट सौंप दी। प्रतिनिधिमंडल में शामिल कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर इस मामले में संसद में झूठ बोलने का आरोप लगाया है। कांग्रेस इस मामले में शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करेगी।

चार सदस्यीय कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल में महासचिव भंवर जितेंद्र सिंह, नागालैंड के प्रभारी महासचिव अजॉय कुमार, सांसद गौरव गोगोई और एंटो एंटोनी शामिल हैं, जिन्होंने नागालैंड का दौरा कर ये रिपोर्ट तैयार की है। इस रिपोर्ट को लेकर गुरुवार शाम 4 बजे भंवर जितेंद्र सिंह, अजॉय कुमार और गौरव गोगोई 10 जनपथ पहुंचे और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को इस सम्बंध में पूरी जानकारी दी।


प्रतिनिधिमंडल में शामिल इन नेताओं ने नागालैंड पहुंचकर पीड़ित परिवारों से भी मुलाकात की थी। इस मसले पर कांग्रेस सांसद गौरव गोगई ने केंद्र सरकार पर अरोप लगाते हुए गुरुवार को कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने संसद में झूठ बोला है कि मौन जिले में फायरिंग से पहले चेतावनी दी गई थी। ऐसा कुछ नहीं हुआ। कांग्रेस के पूर्वोत्तर प्रभारी अजॉय कुमार ने कहा कि आज नागालैंड के लोग दुख में क्रिसमस मना रहे हैं। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह समेत कोई भी केंद्रीय मंत्री नागालैंड नहीं पहुंचा। शाह को अपने पद पर बने रहने का अधिकार नहीं है।

गौरतलब है कि नागालैंड सरकार ने रविवार को मोन जिले में सुरक्षाबलों की कथित गोलीबारी में मारे गए 14 लोगों के परिवारों को पांच-पांच लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने का ऐलान किया है। साथ ही सरकार ने घटना की जांच के लिए पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) स्तर के एक अधिकारी की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय विशेष जांच दल (एसआईटी) गठित करने की भी घोषणा की है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia