BJP सांसद सनी देओल के बंगले की नीलामी नोटिस को वापस लेने पर कांग्रेस ने जताई हैरानी, कहा- तकनीकी कारण पर आश्चर्य है

जयराम रमेश ने कहा, "आज सुबह, 24 घंटे से भी कम समय में, देश को पता चला कि बैंक ऑफ बड़ौदा ने 'तकनीकी कारणों' से नीलामी नोटिस वापस ले लिया है। कांग्रेस के राज्यसभा सांसद ने कहा, आश्चर्य है कि इन 'तकनीकी कारणों' को किसने शुरू किया?"

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने सोमवार को अभिनेता से नेता बने सनी देओल के जुहू स्थित आवास की ई-नीलामी के लिए बैंक नोटिस वापस लेने को लेकर केंद्र की बीजेपी सरकार पर तंज कसा और कहा, "आश्चर्य है कि इन तकनीकी कारणों को किसने शुरू किया।"

पार्टी के महासचिव ने अपने सोशल मीडिया हैंडल एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर कहा, "कल दोपहर को देश को पता चला कि बैंक ऑफ बड़ौदा ने 56 करोड़ रुपये का कर्ज वापस न करने पर बीजेपी सांसद सनी देओल के जुहू स्थित आवास को ई-नीलामी के लिए रखा है।" 

उन्होंने आगे कहा, "आज सुबह, 24 घंटे से भी कम समय में, देश को पता चला कि बैंक ऑफ बड़ौदा ने 'तकनीकी कारणों' से नीलामी नोटिस वापस ले लिया है। कांग्रेस के राज्यसभा सांसद ने कहा, आश्चर्य है कि इन 'तकनीकी कारणों' को किसने शुरू किया?" 

गौरतलब है कि सनी देओल पंजाब के गुरदासपुर संसदीय क्षेत्र से बीजेपी के लोकसभा सांसद है।

कांग्रेस नेताओं की यह टिप्पणी केंद्र सरकार के स्वामित्व वाले बैंक ऑफ बड़ौदा (बीओबी) द्वारा 30 जून को 34,832.16 करोड़ रुपये के सकल गैर-निष्पादित ऋण से लदे होने सूचना के बाद आई है, जिसने अभिनेता की नीलामी के अपने फैसले को वापस लेने का फैसला किया है। सनी देओल की मुंबई की संपत्ति पर 56 करोड़ रुपये का कर्ज और उस पर ब्याज बकाया है।

यह फैसला बैंक द्वारा अभिनेता की संपत्ति की ई-नीलामी के बारे में विज्ञापन देने के एक दिन बाद आया है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;