कांग्रेस ने कोरोना मृतकों के परिवारों के लिए छेड़ा अभियान, कहा- 4 लाख का मुआवजा देना होगा

कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने कहा कि देश में दूसरी लहर 11 महीने बाद आई। जब दुनिया के सारे देश अपने नागरिकों को टीका दे रहे थे, तब हम ताली-थाली बजा रहे थे और देश की वैक्सीन निर्यात कर रहे थे। मोदी जी आपकी तपस्या में कमी नहीं है, समस्या समझने में कमी है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस ने केंद्र की मोदी सरकार से देश में कोरोना वायरस से मरने वालों के परिवारों को 4 लाख रुपये का मुआवजा देने की अपील की है। संसद के शीतकालीन सत्र से पहले कांग्रेस ने कोविड महामारी में मृतक परिवारों को 4 लाख का मुआवजा देने के कैम्पेन की शुरूआत की है। इसके साथ ही कांग्रेस ने कोविड कमीशन के गठन की मांग की है।

कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने गुरुवार को कहा कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने चार लाख मुआवजा कैम्पेन चलाया है और मांग की है कि सरकार को कोविड पीड़ितों का वास्तविक आंकड़ा बताना चाहिए। उन परिवारों को 4 लाख रुपये का मुआवजा देना चाहिए, जिनके सदस्यों की कोविड से मौत हुई है।


उन्होंने कहा कि इस संबंध में कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखकर कहा है कि राज्य सरकारें अपने हिस्से की रकम देने के लिये तैयार हैं। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल, पंजाब सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर अनुरोध किया है कि कोरोना मृतकों को 4 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाए। शीतकालीन सत्र से पहले इन परिवारों को केंद्र सरकार की ओर से राहत दी जाए।

गौरव वल्लभ ने कहा कि देश में दूसरी लहर 11 महीने बाद आई। जब दुनिया के सारे देश अपने नागरिकों का वैक्सीनेशन कर रहे थे। तब हम ताली-थाली बजा रहे थे और देश की वैक्सीन हम निर्यात कर रहे थे। मोदी जी आपकी तपस्या में कमी नहीं है, समस्या समझने में कमी हो गई।
उन्होंने कहा कि सरकार को देश के लोगों की पीड़ा समाप्त कर उन्हें मुआवजा देना चाहिए।
सुप्रीम कोर्ट ने अपने 4 अक्टूबर के फैसले में, कोविड पीड़ितों के परिजनों के लिए 50,000 रुपये की अनुग्रह राशि को मंजूरी दी थी, जिसकी सिफारिश राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने की थी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia