हरियाणा में खट्टर पर खतरा, जा सकती है बीजेपी सरकार, आजतक-Axis  सर्वे में बीजेपी-कांग्रेस में नजदीकी मुकाबला

हरियाणा में बीजेपी की खट्टर सरकार खतरे में है। सोमवार को हुए विधानसभा चुनाव के एक्जिट पोल नतीजे बताते हैं कि बीजेपी बहुमत से दूर रहेगी और कांग्रेस एकदम उसके करीब है। मोटे तौर पर देखें तो हरियाणा में त्रिशंकु विधानसभा के आसार बन रहे हैं।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

हरियाणा में 90 सीटों वाली विधानसभा के लिए सोमवार को मतदान हो गया। कई न्यूज एजेंसियों और चैनलों ने एक्जिट पोल में बीजेपी को स्पष्ट बहुमत मिलने का अनुमान लगाया था। लेकिन मंगलवार को इंडिया टुडे-एक्सिस माई इंडिया एक्जिट पोल के नतीजे अलग कहानी बयां कर रहे हैं। इस एक्जिट पोल के मुताबिक हरियाणा में बीजेपी की खट्टर सरकार खतरे में हैं और उसे बहुमत के लिए 46 सीटें मिलती नहीं नजर आ रही हैं। वहीं कांग्रेस भी बहुमत से दूर दिख रही है।

एक्सिस माई इंडिया द्वारा इंडिया टुडे के लिए किए गए एक्जिट पोल सर्वे में अनुमान लगाया गया है कि हरियाणा में बीजेपी को 90 में से 32 से 44 सीटें मिल सकती हैं। वहीं कांग्रेस के हिस्से में 30 से 42 सीटें आने का अनुमान लगाया गया है। वहीं जेजेपी को 6 से 10 और अन्य को भी 6 से 10 सीटें मिलने का अनुमान है। इसके अलावा बीजेपी और कांग्रेस दोनों पार्टियों के वोट शेयर में भी कोई ज्यादा अंतर नहीं दिख रहा है। सर्वे के मुताबिक बीजेपी को 33 फीसदी और कांग्रेस को 32 फीसदी वोट मिलने का अनुमान है।

गौरतलब है कि 2014 में हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने 47 और कांग्रेस ने 15 सीटों पर जीत हासिल की थी, जबकि 28 सीटें अन्य के खाते में गई थीं। इसके अलावा 2014 में बीजेपी को 33 फीसदी वोट मिले थे, जबकि कांग्रेस के हिस्से में 21 फीसदी वोट आए थे। अन्य के हिस्से में 46 फीसदी वोट गए थे।

न्यूज चैनल आजतक और इंडिया टुडे के लिए सर्वे करने वाली एजेंसी एक्सिस माई इंडिया का दावा है कि एक्जिट पोल के लिए हरियाणा की सभी 90 विधानसभा सीटों पर 23,118 लोगों से बात की गई, जिसके बाद यह अनुमान लगाया गया।

ध्यान रहे कि कांग्रेस और बीजेपी ने हरियाणा की सभी 90 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे, जबकि बीएसपी ने 87 और आईएनएलडी ने 81 सीटों पर चुनाव लड़ा है। इसके अलावा सीपीआई ने 4 और सीपीएम ने 7 सीटों पर प्रत्याशी खड़े किए थे। इनके अलावा 434 निर्दलीय उम्मीदवार भी मैदान में हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 22 Oct 2019, 7:49 PM
लोकप्रिय