प्राचीन हनुमान मंदिर गिराने के खिलाफ दिल्ली कांग्रेस ने किया प्रदर्शन, बीजेपी-आप पर लगाया गुमराह करने का आरोप

दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर चांदनी चौक में ध्वस्त प्राचीन मंदिर में हनुमानजी की मूर्ति को फिर से उचित धार्मिक संस्कार के साथ स्थापित नहीं किया गया तो कांग्रेस एक आंदोलन शुरू करेगी और कानूनी कदम उठाएगी।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

राजधानी दिल्ली के चांदनी चौक में दशकों पुराने प्राचीन हनुमान मंदिर को गिराए जाने के खिलाफ बुधवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया। पार्टी ने आरोप लगाया कि बीजेपी शासित उत्तरी दिल्ली नगर निगम में अरविंद केजरीवाल सरकार की मंजूरी से मंदिर को गिराया गया है और दोनों मिलकर इस मुद्दे पर लोगों को गुमराह कर रहे हैं। इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बीजेपी और केजरीवाल सरकार के खिलाफ नारे लगाए।

प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे दिल्ली प्रदेश कांग्रेस प्रमुख चौधरी अनिल कुमार ने बीजेपी और आम आदमी पार्टी पर हनुमान मंदिर में तोड़फोड़ करने और फिर लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि बीजेपी और आम आदमी पार्टी सरकार ने अदालत के सामने सही तथ्य नहीं रखे हैं, बल्कि केवल अनुमान लगाया कि हनुमान मंदिर चांदनी चौक में पैदल मार्ग पर एक 'अतिक्रमण' था, और यह ऐतिहासिक स्थान के पुनर्विकास में बाधा बन रहा था।

दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अनिल कुमार ने चेतावनी दी कि "अगर चांदनी चौक में ध्वस्त ऐतिहासिक मंदिर में भगवान हनुमानजी की मूर्ति को फिर से उचित धार्मिक संस्कार के साथ स्थापित नहीं किया गया और अक्षरधाम मेट्रो स्टेशन शॉपिंग मॉल के सामने शराब की दुकान को तुरंत बंद नहीं किया जाता है, तो कांग्रेस पार्टी एक आंदोलन शुरू करेगी और कानूनी कदम उठाएगी, जब तक हमारी मांगें पूरी नहीं हो जातीं।"

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia