अडानी ग्रुप को 6 हवाई अड्डे देने पर कांग्रेस ने राज्यसभा में उठाए सवाल, TMC बोली- एयर इंडिया है तो हिंदुस्तान है

कांग्रेस सांसद केसी वेणुगोपाल ने कहा कि आडानी ग्रुप को 6 एयरपोर्ट सौंप दिए गए हैं। एक अकेली प्राइवेट कंपनी को 6 एयरपोर्ट दे देना नियमों का उल्लंघन है। सरकार ने अपने ही मंत्रालयों और विभागों की सलाह नहीं मानी। नियमों में परिवर्तन करके अडानी ग्रुप को नीलामी में जिता दिया गया।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

राज्यसभा में वायुयान संशोधन विधेयक पास हो गया है। कांग्रेस सांसद केसी वेणुगोपाल ने इस बिल का विरोध करते हुए आरोप लगाया कि यह पीपीपी मॉडल पर हवाई अड्डे को विकसित करने के नाम पर घोटाला है। इसके अलावा राज्यसभा में अडानी ग्रुप को देश के 6 हवाई अड्डे देने में नियमों के उल्लंघन का मुद्दा केसी वेणुगोपाल ने उठाया। उन्होंने कहा, “अडानी समूह ने 6 हवाई अड्डों के संचालन और विकास के लिए बोलियां जीती हैं। एक निजी संस्था को हवाई अड्डे देने में मानदंडों का स्पष्ट उल्लंघन है। सरकार ने अपने ही कुछ मंत्रालयों और डिपुओं की सलाह को नजरअंदाज कर दिया।”

वहीं राज्यसभा में वायुयान संशोधन विधेयक, 2020 पर बहस के दौरान कांग्रेस सांसद केसी वेणुगोपाल ने विधेयक का विरोध करते हुए आरोप लगाया कि यह पीपीपी मॉडल हवाई अड्डे को विकसित करने के नाम पर घोटाला है।

कांग्रेस के अलावा टीएमसी ने भी सरकार पर हमला बोला। टीएमसी सांसद दिनेश त्रिवेदी ने कहा, “मुझे वंदे भारत मिशन के तहत विदेशों से बहुत सारे भारतीयों को वापस लाने के लिए सरकार की प्रशंसा करनी चाहिए और ऐसा किसने किया? यह एयर इंडिया ने किया। आप चाहें तो एयर इंडिया के ढांचे को बदल सकते हैं लेकिन कृपया इसे न बेचें। एयर इंडिया है तो हिंदुस्तान है।

लोकप्रिय
next