तेल-गैस के दाम में बढ़ोतरी पर कांग्रेस ने सरकार को घेरा, कहा- मोदी राज में सांप्रदायिकता-नफरत एकमात्र सस्ती चीज

राज्यसभा में कांग्रेस सांसद शक्तिसिंह गोहिल ने पेट्रोल-डीजल और एलपीजी के दाम में बढ़ोतरी पर चर्चा के लिए सदन में निलंबन नोटिस दिया है। टीएमसी सांसद डोला सेन ने भी उच्च सदन में इस मुद्दे पर निलंबन का नोटिस दिया है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस ने मंगलवार को राज्यसभा में विपक्ष के नेता के साथ विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के ठीक 11 दिन बाद ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर बीजेपी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार को जमकर घेरा। कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि मोदी सरकार में एकमात्र सस्ती चीजें 'सांप्रदायिकता और नफरत' हैं।

देश में एलपीजी की कीमतों में जहां 50 रुपये प्रति सिलेंडर की बढ़ोतरी की गई है, वहीं पेट्रोल और डीजल की कीमतों में 80 पैसे की बढ़ोतरी हुई है। खड़गे ने ट्विटर पर कहा, "पीएम मोदी जी को देश के अधिकांश हिस्सों में 1,000 रुपये प्रति एलपीजी सिलेंडर का 'लक्ष्य' हासिल करने के लिए बधाई। अब पेट्रोल-डीजल की कीमतों में भी दैनिक 'विकास' होगा। एकमात्र किफायती मोदी सरकार के तहत चीजें सांप्रदायिकता और नफरत हैं। बाकी सब कुछ महंगा है।"


वहीं, कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा, "वे बस चुनाव खत्म होने का इंतजार कर रहे थे।' इस बीच, राज्यसभा में कांग्रेस सांसद शक्तिसिंह गोहिल ने बढ़ोतरी पर चर्चा के लिए सदन में निलंबन नोटिस दिया है। उन्होंने कहा, "खाना पकाने की गैस, पेट्रोल और डीजल की कीमतों में निरंतर वृद्धि पर चर्चा करने के लिए 22/3/22 के लिए नियम 267 के तहत व्यापार/ नोटिस का निलंबन।" टीएमसी सांसद डोला सेन ने भी उच्च सदन में इस मुद्दे पर निलंबन नोटिस दिया है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;