दिल्ली में कदम-कदम पर शराब दुकान खोलने के खिलाफ सड़क पर उतरी कांग्रेस, केजरीवाल सरकार को दी नीति बदलने की चेतावनी

दिल्ली कांग्रेस प्रमुख अनिल कुमार ने आरोप लगाया कि उपराज्यपाल द्वारा पास दिल्ली की शराब नीति में करोड़ों का भ्रष्टाचार हुआ है और उनके पूर्व सहयोगी ने भी 500 करोड़ के भ्रष्टाचार को उजागार किया है, जिसकी उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए।

फोटोः
फोटोः
user

नवजीवन डेस्क

दिल्ली में नई आबकारी नीति के बाद जगह-जगह शराब दुकानें खुलने के खिलाफ आज कांग्रेस ने सड़कों पर उतरकर विरोध जताया। दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अनिल कुमार ने साफ कहा कि हम राजधानी में ऐसी किसी भी जगह पर शराब दुकान खोलने नही देंगे, जिसके पास धार्मिक स्थल, स्कूल, सरकारी कार्यालय या रिहायशी क्षेत्र हों।

केजरीवाल सरकार की नई आबकारी नीति के खिलाफ आज सड़कों पर कांग्रेस के प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे प्रदेश अध्यक्ष अनिल कुमार ने कहा कि उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने अपने क्षेत्रीय कार्यलय स्थित जेजे कलस्टर और स्कूल के नजदीक शराब का ठेका खुलवाने का निर्णय किया है, जिसका हम विरोध करते हैं। हम ऐसी किसी जगह पर शराब दुकान खोलने नहीं देंगे, जहां आसपास धार्मिक स्थल और स्कूल हों।


दिल्ली कांग्रेस प्रमुख अनिल कुमार ने आगे कहा कि डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के रातों रात गुपचुप तरीके से अपने क्षेत्र में शराब का ठेका खुलवाने की कोशिश की हम कभी इजाजत नहीं देंगे। उनके कार्यालय के नजदीक शराब का ठेका खोले जाने के पीछे शराब माफिया के साथ साठगांठ साफ जाहिर होता है। उन्होंने आरोप लगाया कि उपराज्यपाल द्वारा पास दिल्ली की शराब नीति में करोड़ों का भ्रष्टाचार हुआ है और उनके पूर्व सहयोगी ने भी 500 करोड़ के भ्रष्टाचार को उजागार किया है, जिसकी उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए।

दरअसल यह पहली बार नहीं जब दिल्ली सरकार की नई आबकारी नीति के खिलाफ नेता सड़कों पर उतरे हैं। इससे पहले बीजेपी ने दिल्ली की 15 जगहों पर चक्का जाम कर इस नीति का विरोध किया था। वहीं अब दिल्ली निगमों द्वारा भी कई दुकानों को नोटिस जारी कर सील किया जा चुका है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia