‘अग्निपथ’ के खिलाफ दिल्ली के जंतर-मंतर पर कांग्रेस का सत्याग्रह, पार्टी के बड़े नेता हुए शामिल

कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने कहा कि सत्याग्रह सत्य से सबंधित है जब भी आप सत्य के लिए खड़े होंगे जब भी आप किसी का विरोध करेंगे सत्य के साथ नहीं है वह सत्याग्रह होगा।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

अग्निपथ योजना को लेकर कांग्रेस सरकार पर दबाव बनाने में जुटी है, ताकि सरकार युवाओं की उचित मांगों को मान ले। कांग्रेस के तमाम वरिष्ठ नेता आज जंतर मंतर पर इस योजना के विरोध में सत्याग्रह कर रहे हैं, इस सत्याग्रह में प्रियंका गांधी भी शामिल हो रही हैं। कांग्रेस के मुताबिक, सरकार को इस योजना को तुरंत वापस लेना चाहिए क्योंकि यह छात्रों के लिए ठीक नहीं है। कांग्रेस के सत्याग्रह को लेकर जंतर मंतर पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है और पैरामिल्रिटी फोर्सेस तैनात है।

फोटो: विपिन
फोटो: विपिन

देशभर में भी युवा इस योजना के खिलाफ सड़कों पर उतर आए हैं और कई शहरों और कस्बों से हिंसा की घटनाएं दर्ज की गई हैं। कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने कहा, सत्याग्रह सत्य से सबंधित है जब भी आप सत्य के लिए खड़े होंगे जब भी आप किसी का विरोध करेंगे सत्य के साथ नहीं है वह सत्याग्रह होगा।

उन्होंने कहा कि हम देश के युवाओं को कहेंगे कि वह शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करें यह देश का मामला है और फौज का मामला है इस मामले पर हिंसा बिल्कुल नहीं होनी चाहिए।

फोटो: विपिन
फोटो: विपिन

इस योजना पर कांग्रेस नेता मनीष तिवारी के समर्थन देने पर सलमान खुर्शीद ने कहा, "मनीष हमारे मित्र हैं और उन्हें अपनी व्यक्तिगत राय रखने का पूरा अधिकार है। हमारे नेता उनकी बात को भी सुन और उसके बाद निर्णय लेने ऐसा नहीं है कि मनीष में कोई विद्रोह किया हो हर कोई अपना विचार व्यक्त कर रहा है।"

फोटो: विपिन
फोटो: विपिन

वहीं, अग्निपरीक्षा योजना के तहत भर्ती होने वाले अग्निवीरों के लिए गृह मंत्रालय ने अहम फैसला लेते हुए अग्निवीरों को सीएपीएफ और असम राइफल्स में 10 फीसदी आरक्षण देने का फैसला किया गया है। इसमें भर्ती के लिए अग्निवीरों को निर्धारित अधिकतम प्रवेश आयु सीमा में तीन साल की छूट देने का फैसला किया है और अग्निपथ योजना के पहले बैच के लिए यह छूट 5 वर्ष होगी। युवाओं के गुस्से को शांत करने के लिए यह फैसले लिए जा रहे हैं। बावजूद इसके युवाओं का गुस्सा शांत नहीं हो रहा है।

फोटो: विपिन
फोटो: विपिन

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 19 Jun 2022, 12:02 PM