दिल्ली में कोरोना ने पकड़ी रफ्तार, राजधानी में अब तक 3090 कंटेनमेंट जोन घोषित, लागू होगी माइक्रो कंटेन्मेंट जोन नीति

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली में तेजी से कंटेन्मेंट ज़ोन की संख्या भी बढ़ती जा रही है। दिल्ली में कोरोना को कन्टेन करने के लिये दिल्ली सरकार ने माइक्रो कंटेन्मेंट जोन नीति की बात कर रही है।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

देश भर में कोरोना का कहर जारी है। वहीं दिल्ली में कोरोना वायरस एक बार फिर तेजी से पांव पसार रहा है। दिल्ली में 24 घंटे में कोरोना वायरस के 3,548 नए मामले सामने आए हैं। साथ ही इस दौरान 2,936 लोग डिस्चार्ज हुए और 15 लोगों की मौत हो चुकी है।

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली में तेजी से कंटेन्मेंट ज़ोन की संख्या भी बढ़ती जा रही है। दिल्ली में कोरोना को कन्टेन करने के लिये दिल्ली सरकार ने माइक्रो कंटेन्मेंट जोन नीति की बात कर रही है।

5 अप्रैल को दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़े के मुताबिक दिल्ली में अभी 3090 एक्टिव कंटेनमेंट जोन बनाये जा चुके हैं।

क्या है माइक्रो कंटेन्मेंट ज़ोन?

दरअसल दिल्ली सरकार माइक्रो कंटेनमेंट जोन बना रही है, जिसके तहत किसी भी एक परिवार, घर, बिल्डिंग या फ्लोर आदि पर 2 या 3 कोरोना मामले सामने आने के बाद ही उस इलाके को कंटेन या सील कर दिया जाता है। कंटेनमेंट जोन कोई एक बिल्डिंग या एक घर भी हो सकता है। सील की गयी जगह पर सभी तरह की गतिविधियां प्रतिबंधित कर दी जाती हैं। कंटेनमेंट जोन में रहने वाले लोगों के लिए दूध, दवाई और सब्जी के अलावा मूलभूत सुविधाएं देने की ज़िम्मेदारी प्रशासन की होती है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय