तेलंगाना के सरकारी स्कूल में कोरोना विस्फोट, 29 बच्चे पॉजिटिव, दहशत में परिजन और शिक्षक

कई अभिभावकों ने कहा कि भीड़भाड़ के कारण कोविड फैला है। क्योंकि स्कूल और जूनियर कॉलेज में करीब 550 छात्र हैं। कक्षा 5 से 10 तक के 450 छात्रों के लिए मात्र 16 कमरे हैं। क्लास के बाद हर कमरे में 40 छात्र सोते हैं। डाइनिंग हॉल में भी 200 छात्रों की क्षमता है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

तेलंगाना के खम्मम जिले में एक सरकारी आवासीय स्कूल और लड़कियों के जूनियर कॉलेज के 29 छात्र कोविड-19 जांच में पॉजिटिव पाए गए हैं, जिसके बाद उनके माता-पिता और शिक्षकों में दहशत फैल गई है। अधिकारियों ने कहा कि पिछले दो दिनों के दौरान वायरा शहर के स्कूल और जूनियर कॉलेज में मामले सामने आए। कुछ छात्रों में संदिग्ध लक्षण दिखने के बाद स्कूल अधिकारियों ने सभी छात्रों का परीक्षण कराया।

इतने बड़े पैमाने पर छात्रों के संक्रमित होने की खबर मिलने पर परेशान अभिभावक स्कूल पहुंचे और अपने बच्चों को घर ले गए। जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ बी मलाठी ने कहा कि जिन लोगों का टेस्ट पॉजिटिव आया है, वे ठीक हैं। अधिकारी ने कहा कि जांच में पॉजिटिव आने वाले छात्रों को उनके माता-पिता होम क्वोरंटीन के लिए घर ले गए और वे सभी ठीक हैं।

जांच में नेगेटिव आने वाले छात्रों के माता-पिता भी उन्हें एहतियात के तौर पर घर ले गए हैं। यह जानकारी देने में हो रही देरी को लेकर कुछ अभिभावकों ने स्कूल अधिकारियों की खिंचाई की। कई अभिभावकों ने स्कूल प्रबंधन और अधिकारियों पर लापरवाही का आरोप लगाया और उन पर कार्रवाई की मांग की।


पिछले महीने राज्य में आवासीय स्कूलों को फिर से खोलने के बाद यह पहली बार है जब इतनी बड़ी संख्या में छात्र जांच में पॉजिटिव पाए गए हैं। इस घटना ने अधिकारियों को आवासीय स्कूलों में कोविड-19 निवारक उपायों को अपनाने के लिए प्रेरित किया। विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों ने स्कूल का दौरा किया और स्कूल के अधिकारियों से सामाजिक दूरी बनाए रखने, मास्क पहनने और सैनिटाइजर के उपयोग जैसे निवारक उपायों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने को कहा।

आवासीय स्कूल और जूनियर कॉलेज में करीब 550 छात्र पढ़ रहे हैं। कुछ माता-पिता ने कहा कि भीड़भाड़ के कारण कोविड फैला है। यहां कक्षा 5 से 10 तक के 450 छात्रों के लिए मात्र 16 कमरे हैं। कक्षाओं के बाद हर कमरे में चालीस छात्र सोते हैं। डाइनिंग हॉल में केवल 200 छात्रों की क्षमता है। वहीं, स्कूल प्रिंसिपल लक्ष्मी ने कहा कि अधिक भवनों के निर्माण का प्रस्ताव अधिकारियों के पास लंबित है।


तेलंगाना में शैक्षणिक संस्थान 1 सितंबर से फिर से खोले गए थे। हालांकि, उच्च न्यायालय ने अक्टूबर के अंतिम सप्ताह में आवासीय स्कूलों को फिर से खोलने की अनुमति दी, जब शिक्षा विभाग ने आश्वासन दिया कि सभी निवारक उपाय किए जाएंगे। लेकिन अब आवासीय स्कूल में कोरोना विस्फोट के बाद सरकार के फैसले पर सवाल उठने लगे हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia