कोरोना वायरस से संक्रमित रोगियों को हो सकती है थायरॉयड की भी समस्या, नई रिसर्च में दावा

कोरोना वायरस की दवा अभी तक नहीं है, लेकिन इससे होने वाली दूसरी बीमारियों की जानकारी सामने आ रही है। ताजा रिसर्च में पता चला है कि कोरोना से संक्रमित मरीज को थायरॉड की भी समस्या हो सकती है।

आईएएनएस
आईएएनएस
user

आईएएनएस

कोरोनावायरस से संक्रमित हुए रोगियों को एक सूजन संबंधी थायरॉयड बीमारी 'सबस्यूट थायरॉयडिटिस' हो सकती है। एक नए शोध में यह बात सामने आई है। शोधकर्ताओं ने बताया कि सबस्यूट थायरॉयडिटिस एक सूजन थायरॉयड रोग है। इसकी विशेषता है कि इसके चलते गर्दन में दर्द होता है और यह आमतौर पर एक अपर रेस्पिरेट्री ट्रैक्ट संक्रमण के चलते होता है।

द जर्नल ऑफ क्लिनिकल एंडोक्रिनोलॉजी एंड मेटाबॉलिज्म में प्रकाशित एक नए मामले के अध्ययन के अनुसार, यह एक वायरल संक्रमण या एक पोस्ट-वायरल इंफ्लेमेटरी रिएक्शन के कारण हो सकता है, और कई वायरस ऐसे हैं, जो रोग से जुड़े हुए हैं।

गंभीर श्वसन लक्षणों के साथ सार्स-कोव-2 (कोविड-19) एक महामारी के रूप में उभरा है और इसमें अन्य अंग शामिल हो सकते हैं। कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों का वैश्विक आंकड़ा 50 लाख से अधिक हो चुका है।

इटली के यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल ऑफ पीसा के शोधकर्ता फ्रांसेस्को लैट्रॉफ ने कहा, "हमने सार्स-कोव-2 संक्रमण के बाद सबस्यूट थायरॉयडिटिस के पहले मामले की सूचना दी । चिकित्सकों को कोविद -19 से संबंधित इस अतिरिक्त संभावना के बारे में सतर्क किया जाना चाहिए।"

लोकप्रिय