मध्य प्रदेश में तेजी से फैल रहा कोरोना का संक्रमण, कई जिलों में बिगड़े हालात

मध्य प्रदेश में कोरोना का संक्रमण एक बार फिर तेजी से फैला रहा है, यही कारण है कि सरकार को ज्यादा प्रभावित जिलों में रविवार को पूर्णबंदी से लेकर रात का कर्फ्यू और स्कूल-कॉलेज तक को बंद करने के फैसले लेने पड़ रहे है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

मध्य प्रदेश में कोरोना का संक्रमण एक बार फिर तेजी से फैला रहा है, यही कारण है कि सरकार को ज्यादा प्रभावित जिलों में रविवार को पूर्णबंदी से लेकर रात का कर्फ्यू और स्कूल-कॉलेज तक को बंद करने के फैसले लेने पड़ रहे है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी राज्य के कई जिलों के बिगड़ते हालात पर चिंता जता चुके हैं। राज्य में एक दिन में संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 2332 तक पहुंच गया है। सबसे ज्यादा बुरे हालात इंदौर, भोपाल, जबलपुर, खरगोन, उज्जैन, बैतूल के हैं। यहां मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। मध्य प्रदेश देश के उन आठ राज्यों में शामिल हो गया है, जहां एक दिन में सबसे ज्यादा मरीज सामने आ रहे हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने गुरुवार को बताया है कि, "आठ राज्यों से रोजाना सामने आ रहे दैनिक मामले कुल मामलों में से 84.61 प्रतिशत हैं। इन आठ राज्यों में महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, पंजाब, केरल, तमिलनाडु, गुजरात और मध्य प्रदेश शामिल हैं।"

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना के उपचार की सर्वश्रेष्ठ व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जा रही हैं। एक ओर जहां कोरोना के इलाज के लिए सभी जिलों में बेड बढ़ाए जा रहे हैं, वहीं दूसरी ओर वैक्सीनेशन के कार्य को भी गति दी जा रही है।


इसके साथ ही मुाख्यमंत्री चौहान इंदौर, भोपाल, जबलपुर, खरगोन की स्थिति पर चिंता जता चुके हैं। उनका कहना है कि इन स्थानों पर कुछ माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाकर कोरोना को नियंत्रित किया जाए।

राज्य में कोरोना के उपचार के लिए प्रदेश के अस्पतालों में 15 हजार से अधिक बेड बढ़ाए जा रहे हैं। वर्तमान में प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में कोरोना के लिए सामान्य, ऑक्सीजन एवं आईसीयू बेड की कुल संख्या 20 हजार 139 है, जिसे बढ़ाकर 35 हजार 621 किया जा रहा है।

गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव डॉ. राजेश राजौरा ने बताया है कि राज्य में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को ध्यान में रखकर आगामी 15 अप्रैल, 2021 तक महाराष्ट्र से मध्यप्रदेश आवागमन करने वाली बसों के परिवहन को प्रतिबंधित किया गया है।

उन्होंने आगे बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिये पूर्व निर्देशों को यथावत रखते हुए अतिरिक्त दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं, वहीं भोपाल, इंदौर, जबलपुर, बैतूल, छिन्दवाड़ा, खरगौन एवं रतलाम शहरों में 15 अप्रैल 2021 तक समस्त स्कूल-कॉलेज में शिक्षण बंद रहेगा।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia