कोरोना का खौफ: बिहार के मुजफ्फरपुर में क्वारंटाइन केंद्र में प्रवासी मजदूर ने खुद को लगाई आग, मुंबई से लौटा था युवक

बिहार के मुजफ्फरपुर के गायघाट प्रखंड में प्रवासी मजदूरों ने खुद को आग लगा ली है। सूचना मिलते ही प्रशासन ने स्थानीय पीएचसी में भर्ती करा दिया है जहां उसकी हालत नाजुक बताई जा रही है. प्रवासी मजदूर पूर्णिया जिला का रहने वाला है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

बिहार के मुजफ्फरपुर के गायघाट प्रखंड के एक क्वारंटीन केंद्र में रह रहे एक प्रवासी मजदूर ने खुद को आग लगाकर आत्मदाह करने की कोशिश की। गंभीर रूप से जल चुके मजदूर को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है।

पुलिस के एक अधिकारी ने शुक्रवार को बताया, “35 साल के प्रवासी मजदूर पूर्णिया जिले का रहने वाला है, जो करीब 8 दिन पहले मुंबई से अपनी बाइक से ही मुजफ्फरपुर के कमरथू गांव में अपने ससुराल आया था। ससुराल वालों ने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए युवक को क्वारंटीन केंद्र पहुंचा दिया था, तभी से युवक कमरथु में बने क्वारंटीन केंद्र में रह रहा था।”

बताया जा रहा है कि गुरुवार रात युवक केंद्र के कमरे से निकला और अपनी ही बाइक से पेट्रोल निकालकर अपने शरीर पर उड़ेल कर खुद को आग लगा ली। गायघाट के प्रखंड विकास पदाधिकारी अनिल कुमार ने शुक्रवार को बताया, “आनन-फानन में युवक को स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया, जहां प्राथमिक इलाज के बाद उसे मुजफ्फरपुर एसकेएमसीएच रेफर कर दिया गया।”

उन्होंने कहा, “आग लगाने के कारणों का पता नहीं चल सका है, हालांकि केंद्र के लोगों का कहना है कि युवक कुछ दिनों से परेशान था। युवक की हालत गंभीर बनी हुई है। मामले की जांच की जा रही है।”

इसे भी पढ़ें: कोरोना लॉकडाउन: ‘सपनों के शहर ने बहुत नाउम्मीद किया’, प्रवासी मजदूरों के छलके दर्द, बोले- अब नहीं जाएंगे

चौंकाने वाली खबर! एमपी के इंदौर में कोरोना के 61 ऐसे मरीज आए सामने जो घर से बिना निकले हो गए संक्रमित

लोकप्रिय