देश में फिर मंडराया कोरोना का खतरा! केरल में कोविड के नए वेरिएंट ने ली दो लोगों की जान, जारी किया गया अलर्ट

केरल में कोरोना के नए सब वेरिएंट जेएन.1 का पता चला है। 8 दिसंबर को तिरुवनंतपुरम जिले के काराकुलम से आरटी-पीसीआर पॉजिटिव सैंपल्स में सब वेरिएंट का पता चला।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

देश में सर्दियों के बढ़ने के साथ ही एक बार फिर कोरोना वायरस का खरता मंडराने लगा है। कोरोना के नए वेरिएंट से केरल में दो लोगों की मौके बाद लोगों में दहशत का माहौल है। वहीं, स्वास्थ्य विभाग की चिंताएं बढ़ गई हैं। केरल के स्वास्थ्य विभाग ने राज्यभर में अलर्ट जारी किया है। द हिंदू की रिपोर्ट के अनुसार, मरने वालों में कोझिकोड जिले के वट्टोली के 77 वर्षीय कलियाट्टुपरमबथ कुमारन और कन्नूर जिले के पनूर के 82 वर्षीय पलक्कंडी अब्दुल्ला शामिल हैं। शुक्रवार को कुमारन की मौत के बाद एक लैब टेस्ट में इस बात की पुष्टि हुई कि उनकी मौत कोरोना की वजह से हुई है। वहीं, शनिवार को कोझिकोड के एक निजी अस्पताल में खांसी और सांस लेने में तकलीफ के इलाज के दौरान अब्दुल्ला नाम के व्यक्ति की मौत हो गई।

केरल में कोरोना के नए सब वेरिएंट जेएन.1 का पता चला है। 8 दिसंबर को तिरुवनंतपुरम जिले के काराकुलम से आरटी-पीसीआर पॉजिटिव सैंपल्स में सब वेरिएंट का पता चला। 79 साल की महिला के नमूना की 18 नवंबर को आरटी-पीसीआर जांच की गई थी, जिसे संक्रमित पाया गया। महिला में इन्फ्लूएंजा जैसी बीमारियों के हल्के लक्षण थे और वह कोरोना वायरस से उबर चुकी है।

केरल में स्वास्थ्य अधिकारियों ने सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में कड़ी निगरानी रखने के निर्देश दिए हैं। बुखार के मरीजों की बढ़ती संख्या के मद्देनजर, जिन लोगों को सांस लेने में परेशानी, सीने में दर्द, लो ब्लड प्रेशर और भोजन करने में परेशानी है, उन्हें तुरंत डॉक्टर से सलाह लेने के लिए कहा जा रहा है। कोरोना के लक्षण वाले लोगों को टेस्ट करवाने की सलाह दी गई है।

कोरोना से राज्य में दहशत के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के नियमों के तहत केरल के सभी हेल्थ फैसिलिटी में मॉकड्रिल का आयोजन किया गया। सरकार द्वरा जारी एक बयान में कहा गया है कि स्वास्थ्य मंत्रालय राज्य स्वास्थ्य अधिकारियों के संपर्क में है और स्थिति की निगरानी की जा रही है। सरकार ने बताया कि कोरोना के अधिकतर मामले हल्के लक्षण वाले हैं और बिना किसी इलाज के घर पर ही ठीक हो जा रहे हैं।


केरल में कोरोना से दो लोगों की मौत के बाद तमिलनाडु में कोरोना से बचाव के सभी एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्री मा सुब्रमण्यम ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को वायरस को फैलने से रोकने के लिए जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि अगर किसी खास इलाके में कोरोना मामलों में बढोतरी दिखाई देती है तो तो आरटीपीसीआर जांच कराने के लिए कहा गया है। तमिलनाडु में 15 दिसंबर तक संक्रमण के 36 मामले सामने आए थे।

वहीं, कर्नाटक सरकार ने राज्य के अस्पतालों में मॉक ड्रिल करने का फैसला किया है। सरकार ने मंगलवार को कोविड-19 पर तकनीकी सलाहकार समिति भी बुलाई है। सरकार की तरफ से टेस्टिंग किट खरीदने के निर्देश दिए गए हैं। इसमें आरटी-पीसीआर जांच, रैपिड एंटीजन टेस्ट और वीटीएम (वायरल ट्रांसपोर्ट मीडियम) शामिल हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, शनिवार तक मिले अपडेट के अनुसार, देश में कोविड-19 मामलों की कुल संख्या में 339 नए मामलों का इजाफा हुआ है। देश में सक्रिय मरीजों की संख्या 1492 हो गई है। मरने वालों की संख्या 5,33,311 हो गई है। देश में अब तक कोरोना वायरस से 4,50,04,481 लोग संक्रमित हुए हैं, जिसमें से 4,44,69,678 लोग इससे रिकवर हुए हैं। रिकवरी रेट 98.81% पर पहुंच गया है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;