कोरोना वायरस फिर मचाएगा कोहराम! भारत में 24 घंटे में 31 नए केस आए, सक्रिय मामले 249 पहुंचे

महामारी के दौरान डब्ल्यूएचओ के तकनीकी प्रमुख रहे वैन केरखोव ने कहा कि सार्स-कोव-2 वायरस फैल रहा है, विकसित हो रहा है और बदल रहा है। उन्होंने कहा कि कोविड एक खतरा बना हुआ है और वर्तमान में हर देश में फैल रहा है।

भारत में 24 घंटे में कोरोना के 31 नए केस आए, सक्रिय मामले 249 पहुंचे
भारत में 24 घंटे में कोरोना के 31 नए केस आए, सक्रिय मामले 249 पहुंचे
user

नवजीवन डेस्क

सर्दियां बढ़ने के साथ एक बार फिर देश में कोरोना वायरस की दस्तक सुनाई दे रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के रविवार को जारी अपडेट के अनुसार भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 31 नए मामले दर्ज किए गए हैं, जबकि सक्रिय मामले 249 पहुंच गए हैं। यह आंकड़ा अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, मलेशिया, ऑस्ट्रेलिया और फिलीपींस सहित कई देशों में कोरोना मामलों में देखी गई वृद्धि के बीच आया है।

वैश्विक स्वास्थ्य निकाय के सोशल मीडिया चैनलों पर हाल ही में एक चर्चा में विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) में महामारी और महामारी की तैयारी और रोकथाम के लिए अंतरिम निदेशक मारिया वान केरखोव ने कहा कि सार्स-कोव-2 वायरस फैल रहा है, विकसित हो रहा है और बदल रहा है। महामारी के दौरान डब्ल्यूएचओ के तकनीकी प्रमुख रहे वैन केरखोव ने कहा कि कोविड एक खतरा बना हुआ है और अभी हर देश में फैल रहा है।


वैन केरखोव ने यूरोन्यूज़ नेक्स्ट से कहा, "दुनिया कोविड से आगे बढ़ गई है, और कई मायनों में, यह अच्छा है क्योंकि लोग सुरक्षित रहने और खुद को सुरक्षित रखने में सक्षम हैं, लेकिन यह वायरस कहीं नहीं गया है। यह फैल रहा है। यह बदल रहा है, यह मार रहा है, और इसलिए हमें सतर्क रहना होगा।''

ऑस्ट्रेलिया के नॉर्थ टेरिटरी सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल को पिछले चार सप्ताह में ही 500 से अधिक मामलों की सूचना दी गई है, जो पिछले चार सप्ताह की अवधि से 160 प्रतिशत अधिक है। पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया ने पर्थ के सार्वजनिक अस्पतालों में कोविड-19 मामलों में वृद्धि के कारण मास्क अनिवार्यता बहाल कर दी है।

मलेशिया ने पिछले सप्ताह 2,305 कोविड मामले दर्ज किए, जिसमें 21 ओमीक्रॉन वेरिएंट की रिपोर्ट के साथ 28 प्रतिशत की वृद्धि हुई। वहीं, फिलीपींस ने 175 नए कोविड मामले दर्ज किए। सबसे आम वेरिएंट में बीए.2.86 शामिल है जो वैश्विक स्तर पर धीरे-धीरे बढ़ रहा है। डब्ल्यूएचओ ने कहा कि हाल ही में इसे "रुचि के वेरिएंट" के रूप में वर्गीकृत किया गया है। आंकड़ों से पता चला है कि अब तक देश में कोविड टीकों की 220.67 करोड़ खुराकें दी जा चुकी हैं।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;