दिल्ली में कोरोना बरपा रहा कहर, लेकिन अस्पताल में भर्ती होने की स्थिति स्थिर, जानें स्वास्थ्य मंत्री ने क्या कहा?

दिल्ली में कोरोना से बीते 12 दिनों में 133 लोगों की मौत हुई है। राष्ट्रीय राजधानी ने बुधवार को 27,561 कोविड मामलों के साथ 40 मौतों की भी सूचना दी, जो अब तक का दूसरा सबसे बड़ा एकल-दिवसीय कोविड आंकड़ा है।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने गुरुवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं, लेकिन संक्रमण के कारण अस्पताल में भर्ती होने की दर स्थिर बनी हुई है।

जैन ने जोर देकर कहा कि अस्पताल में भर्ती होने की दर पिछले चार दिनों से समान है जो दर्शाता है कि दिल्ली में जल्द ही मामले घटने लगेंगे।

यह रेखांकित करते हुए कि लॉकडाउन की कोई योजना नहीं है, स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि गुरुवार शाम तक लगभग 27,500 मामले आने की उम्मीद है। हालांकि, कोविड रोगियों के बीच अस्पताल में भर्ती होने की दर पिछले 4 दिनों से स्थिर है, उन्होंने कहा कि दिल्ली में बेड आक्यूपेसी दर 15 प्रतिशत है।

मीडिया को संबोधित करते हुए, राजधानी शहर में हाल ही में कोविड से संबंधित मौतों में वृद्धि पर, उन्होंने कहा कि एक मृत्यु लेखा समिति ने बुधवार को बैठक की और पाया कि मृत्यु ज्यादातर कॉमरेडिटी वाले लोगों में हुई है।


दिल्ली में कोरोना से बीते 12 दिनों में 133 लोगों की मौत हुई है। राष्ट्रीय राजधानी ने बुधवार को 27,561 कोविड मामलों के साथ 40 मौतों की भी सूचना दी, जो अब तक का दूसरा सबसे बड़ा एकल-दिवसीय कोविड आंकड़ा है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia