झारखंड में कोरोना बरपा रहा कहर, बिहार और बंगाल की तुलना में हर रोज मिल रहे 3 गुना अधिक मरीज

राज्य में जिनोमसीक्वेंसिंग की व्यवस्था नहीं होने के कारण अब तक यह साफ नहीं हो पाया है कि यहां ओमिक्रॉन वेरिएंट के मामले हैं या नहीं। हालांकि रांची के राज सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल के 5 डॉक्टरों की टीम ने अपनी एक स्टडी रिपोर्ट में दावा किया है कि राज्य में ओमिक्रॉन वेरिएंट तेजी से बढ़ रहा है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

झारखंड में कोरोना संक्रमण ने विस्फोटक रूप धारण कर लिया है। पड़ोसी राज्यों बिहार और बंगाल की तुलना में झारखंड में प्रतिदिन तिगुने ज्यादा मरीज मिल रहे हैं। मंगलवार को राज्य में कोरोना संक्रमण के 2681 मामले सामने आए, जबकि पड़ोसी राज्य बिहार में इस दिन 893 केस मिले। अकेले रांची में 24 घंटे के अंदर 1196 संक्रमितों की पहचान हुई है, जबकि एक दिन पहले यहां 615 केस सामने आए थे। पूरे राज्य में एक्टिव मामलों की संख्या 7681 है। इनमें से अकेले रांची में 3370 मामले हैं। एक दिन में मरीजों की दोगुनी होती संख्या ने राज्य के लोगों की चिंता बढ़ा दी है।

रांची के बाद सबसे ज्यादा मरीज जमशेदपुर में मिल रहे हैं। मंगलवार को यहां 402 कोरोना संक्रमित पाए गए। इसके अलावा बोकारो में 24 घंटे में 162 और धनबाद में 161 मरीजों की पहचान की गई। अब राज्य के सभी 24 जिलों में कोरोना के एक्टिव मामले हैं।

राज्य में जिनोमसीक्वेंसिंग की व्यवस्था नहीं होने के कारण अब तक यह साफ नहीं हो पाया है कि यहां ओमिक्रॉन वेरिएंट के मामले हैं या नहीं। हालांकि रांची के राज सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल के 5 डॉक्टरों की टीम ने अपनी एक स्टडी रिपोर्ट में दावा किया है कि राज्य में ओमिक्रॉन वेरिएंट का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। इस टीम ने लगभग ढाई सौ मरीजों के लक्षणों की जांच के आधार पर स्टडी की है। राज्य के सबसे बड़े मेडिकल कॉलेज रिम्स के डायरेक्टर डॉ कामेश्वर प्रसाद ने भी कहा है कि कोरोना संक्रमण के मामले जितनी रफ्तार से बढ़ रहे हैं, उससे राज्य में ओमिक्रॉन वेरिएंट के प्रसार की आशंका को बल मिल रहा है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia