लॉकडाउन में घर जा रहे मजदूरों पर फिर टूटा कहर, दो सड़क हादसों में 7 प्रवासी श्रमिकों की मौत, 27 घायल

उत्तर प्रदेश के महोबा में झांसी-मिर्जापुर हाईवे पर एक डीसीएम वाहन के पलट जाने से 3 प्रवासी मजदूरों की मौत हो गई है और 12 से अधिक घायल हो गए हैं। वाहन में करीब 17 प्रवासी मजदूर यात्रा कर रहे थे। घायल को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

देश भर में जारी कोरोना लॉकडाउन के बीच अपने घर जा रहे प्रवासी मजदूरों के साथ हादसों का सिलसिला जारी है। देश दो अलग-अलग जगहों पर दो सड़क हादसों में 7 प्रवासी मजदूरों की मौत हो गई हैं, इनमें 3 महिलाएं शामिल हैं। वहीं, इन दो हादसों में 27 मजदूर घायल हो गए हैं, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

महाराष्ट्र के यवतमाल में आज सुबह प्रवासी मजदूरों को ले जा रही बस ट्रक से टकराई गई। हादसे में चार मजदूरों की मौत हो गई है और 15 घायल हो गए हैं। बस प्रवासी मजूदरों को सोलापुर से झारखंड लेकर जा रही थी। इसी दौरान यह हादसा हो गया। हादसे के बाद मौके पर कोहराम मच गया। पुलिस-प्रशासन की मदद से घायल मजदूरों को पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका इलाज जारी है।

वहीं, दूसरा हादसा उत्तर प्रदेश के महोबा में देर रात हुआ है। उत्तर प्रदेश के महोबा में झांसी-मिर्जापुर हाईवे पर एक डीसीएम वाहन के पलट जाने से 3 प्रवासी मजदूरों की मौत हो गई है और 12 से अधिक लोग घायल हो गए हैं। वाहन में करीब 17 प्रवासी मजदूर यात्रा कर रहे थे। घायल को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

महोबा के एक स्थानीय निवासी ने बताया, “डीसीएम वाहन के पलटने से इस बच्चे की मां की मृत्यु हो गई। इसके पिता झांसी में हैं, मुझे बोला गया कि इसे यहीं कहीं एडजस्ट करवा दो। मैं तो यहीं का रहने वाला हूं पर इसे लेकर कहां जाऊं।”

महोबा के एसपी मणिलाल पाटीदार ने बताया, “लेफ्टसाइड का टायर फटने से डीसीएम वाहन पलट गया। हादसे में 3 महिलाओं की मृत्यु हो गई हैं, चार बुरी तरह से घायल हैं और 5-6 लोगों को छोटी-मोटी चोटें लगी हैं। घायलों का इलाज जारी है। यह लोग दिल्ली से महोबा जा रहे थे। इस वाहन में कुल 17 लोग बैठे थे।”

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय