कायर मोदी सरकार सत्य की आवाज के खिलाफ फिर डर गई, ‘इलेक्शन मैनेजमेंट डिपार्टमेंट’ बने ED ने सत्य को ललकारा है: कांग्रेस

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कांफ्रेंस करके कहा कि कायर मोदी सरकार सत्य की आवाज के खिलाफ फिर डर गई है। मोदी सरकार और उसके पिट्ठू ‘‘इलेक्शन मैनेजमेंट डिपार्टमेंट’’ - ED ने सत्य को ललकारा है।

फोटो: विपिन
फोटो: विपिन
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस नेता राहुल गांधी की ईडी के सामने पेशी से पहले कांग्रेस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इसमें रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि आज फिर आगाज होगा - एक गांधीवादी ‘सत्याग्रह’ का। आज फिर आगाज होगा एक ‘नई क्रांति’ का - कायर मोदी सरकार के खिलाफ। आज फिर आगाज़ होगा एक नए ‘बलबले’ का - प्रजातंत्र को रौंदने वाली बीजेपी के खिलाफ। आज फिर आगाज़ होगा ‘साहस और संयम’ का - संविधान का दमन करने वाली ताकतों के खिलाफ आज फिर आगाज़ होगा ‘निडर और बेखौफ’ - गुलामी की पहचान बनी मोदी सरकार की दमनकारी नीतियों के खिलाफ। आज फिर होगा - ‘गांधीवादी रणघोष’।

उन्होंने आगे कहा कि कायर मोदी सरकार सत्य की आवाज के खिलाफ फिर डर गई है। मोदी सरकार और उसके पिट्ठू ‘‘इलेक्शन मैनेजमेंट डिपार्टमेंट’’ - ED ने सत्य को ललकारा है। सत्य को आवरण की जरूरत नहीं, न उसे दबाया जा सकता है और न झुकाया जा सकता है। केंद्रीय दिल्ली में कायर मोदी सरकार की पुलिस के हजारों नाके और अघोषित आपातकाल इस बात का सबूत है कि सत्याग्रह की श्री राहुल गांधी और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के सत्याग्रह से सरकार की चूलें हिल गई हैं।

उन्होंने कहा कि श्री राहुल गांधी के नेतृत्व में शांतिप्रिय और गांधीवादी तरीके से सत्याग्रह की मार्च तो निकलेगी ही। न इसे अंग्रेज दबा पाए और न ही उस समय अंग्रेजों के मुखबिर बने आज के सत्ताधारी हुक्मरान दबा पाएंगे। हम दृढ़ता से, शांतिप्रिय तरीके से बीजेपी के ‘इलेक्शन मैनेजमेंट डिपार्टमेंट’ के कार्यालय जाएंगे, तथा उनकी ‘झूठ की अदालत’ में सत्य पर आधारित हर सवाल का जवाब भी देंगे। यही हमारा संकल्प है, और यही गांधी का रास्ता।

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस को झुकाने के लिए मोदी जी पिछले 8 साल से एड़ी चोटी का जोर लगा रखा है। लेकिन, श्री राहुल गांधी और कांग्रेस का हर नेता और कार्यकर्ता देश के साधारण व्यक्ति, मध्यम वर्ग, गरीब और दलित की आवाज उठाने के अपने कर्तव्य पर अडिग हैं। हम लोकतंत्र के सिपाही हैं और संविधान के रखवाले। हम न डरेंगे और न झुकेंगे और हर भाजपाई हथकंडे को विफल करेंगे।

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस 136 साल से इस देश के हर व्यक्ति की आवाज है। हम उस गांधी के वंशज हैं, जिन्होंने निहत्थे रहकर देश की जनता की ताकत के बल पर दुनिया की सबसे बड़ी तानाशाही ताकत को हिंदुस्तान छोड़कर भागने पर विवश कर दिया था। कांग्रेस उस पंडित नेहरू की वैचारिक सोच है, जिन्होंने देश की आजादी के आंदोलन में 10 साल कारावास में बिताए और राष्ट्रनिर्माण का संकल्प पूरा कर दिखाया। हम उस सरदार पटेल के उत्तराधिकारी हैं, जिन्होंने आजाद भारत को पंडित नेहरू के साथ कंधे से कंधा मिला एक सूत्र में पिरोया। हम मौलाना अब्दुल कलाम आजाद और डॉ. राजेंद्र प्रसाद की सोच हैं, जिन्होंने जिन्ना के विभाजनकारी एजेंडे को सिरे से खारिज कर दिया। हम उन ‘माफीवीरों’ के अनुयाई नहीं, जो कारागार की दीवारें देखकर अंग्रेजों को माफीनामे लिख आए थे।

नेशनल हेराल्ड अखबार, जिसके सहारे आप कांग्रेस के नेतृत्व को झुकाना चाहते हैं और डराना चाहते हैं, यह उसी स्वतंत्रता संग्राम की साल 1937 में स्थापित पहचान भी है और आवाज भी। जब आज के हुक्मरान अंग्रेजों की मुखबिरी कर रहे थे तब कांग्रेस के लोग इस देश की मिट्टी को अपने खून और पसीने से सींच रहे थे। उन स्वतंत्रता सेनानियों की आवाज है ये नेशनल हेराल्ड अखबार।

मोदी जी, जब नेशनल हेराल्ड अखबार ( और उसकी मालिक 1937 में बनी एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड) पर कर्ज का गंभीर संकट आया, और समाचार पत्र को चलाने के लिए कठोर परिश्रम करने वाले कर्मचारियों को वेतन नहीं मिल पा रहा था, तब कांग्रेस पार्टी ने साल 2002 से 2011 तक दस वर्षों में 90 करोड़ रुपया इस संस्थान को देकर देश की विरासत को बचाने का काम किया।


भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस एक राजनैतिक दल है और एक राजनैतिक दल किसी कंपनी में हिस्सेदारी नहीं खरीद सकता। इसलिए, ‘यंग इंडियन’ के नाम से एक गैर-लाभकारी कंपनी (नॉट फॉर प्रॉफिट कंपनी) को नेशनल हेराल्ड और एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड के शेयर दिए गए, ताकि 90 करोड़ का कर्ज खत्म हो सके। इस 90 करोड़ में से 67करोड़ कर्मचारियों की तनख्वाह और वीआरएस के लिए दिया गया तथा बाकी सरकार का बकाया, बिजली के बिल तथा भवन के लिए भुगतान हुआ। यह अपराध कैसे हो सकता है। यह तो कर्तव्य का बोध है। हमने मोदी सरकार की तरह देश की संपत्ति अपने उद्योगपति मित्रों को नहीं बेच डाली। नेशनल हेराल्ड की मालिक एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड के पास आज भी सारी संपत्ति हूबहू सुरक्षित है।

नरेंद्र मोदी जी, आप और आपका इलेक्शन मैनेजमेंट डिपार्टमेंट अच्छी तरह से जानते हैं कि नेशनल हेराल्ड और यंग इंडियन की एक खोटी चवन्नी तक कभी कांग्रेस पार्टी, हमारी अध्यक्षा सोनिया जी, राहुल जी या कांग्रेस के किसी नेता ने आज तक नहीं ली है और न ही नॉट प्रॉफिट कंपनी से आप तनख्वाह, डिवीडेंड या किसी रूप में एक पैसे का मुनाफा ले सकते हैं, और न ही यंग इंडिया के शेयर किसी प्रकार से किसी को बेच सकते हैं। यह तो विश्वास का एक मसौदा है, जो भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस व देश की धरोहर है।

अपनी असफलताओं पर झल्लाई हुई इस हुकूमत को मैं बता दूं कि हम इस राष्ट्रीय विरासत को बचाए रखने के लिए कल भी दृढ़ संकल्पित थे, आज भी अडिग हैं और कल भी रहेंगे। आपके यह झूठे मुकदमे हमारे लिए बंदर घुड़कियों से ज्यादा कुछ नहीं हैं। मोदी जी, आप जितना चाहे तिलमिला लें। आप जितना चाहे मुकद्दमे चला लें।

हम कांग्रेस के करोड़ों कार्यकर्ता जनता की आवाज इसी प्रकार उठाते रहेंगे। हम महंगाई, बेरोजगारी और सरकारी संसाधनों की लूट पर आपको इसी प्रकार एक्सपोज करते रहेंगे। हम मध्यम वर्ग और गरीब की आवाज बने रहेंगे। यही कांग्रेस है और यही हमारा धर्म।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 13 Jun 2022, 9:39 AM