त्रिपुरा में नई सरकार बनते ही CPM विधायक के घर हमला, मां से मारपीट, बीजेपी पर लगे आरोप

सीपीएम विधायक ने बताया कि देर रात कुछ बदमाशों ने पश्चिम त्रिपुरा जिले के प्रतापगढ़ में उनके घर पर हमला कर तोड़फोड़ किया और उनकी 79 वर्षीय मां के साथ भी मारपीट की। हमलावरों को बीजेपी समर्थक बताते हुए दास ने कहा कि मां को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

त्रिपुरा में चुनाव के बाद हिंसा की घटनाएं नहीं थम रही हैं। बुधवार को पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह की मौजूदगी में बीजेपी सरकार के शपथ के कुछ ही घंटों बाद सीपीएम विधायक रामू दास के घर पर हमला हुआ और उनकी मां के साथ मारपीट की गई। विधायक ने बीजेपी पर आरोप लगाया है।

सीपीआई-एम विधायक रामू दास ने गुरुवार को बताया कि बुधवार रात कुछ बदमाशों ने पश्चिम त्रिपुरा जिले के प्रतापगढ़ में उनके घर पर हमला कर तोड़फोड़ किया और इस दौरान उनकी 79 वर्षीय मां पर भी बदमाशों ने हमला किया। हमलावरों को बीजेपी समर्थक बताते हुए दास ने बताया कि उनकी मां कानन दास को इंदिरा गांधी मेमोरियल अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

विधायक रामू दास ने कहा कि यह घटना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा और अन्य की मौजूदगी में मुख्यमंत्री माणिक साहा और उनकी मंत्रिपरिषद के शपथ ग्रहण समारोह के कुछ घंटों बाद हुई। विधायक ने कहा कि हमला उस समय हुआ जब वह अपनी पत्नी के साथ डॉक्टर से मिलने गए थे।


उन्होंने दावा किया कि घटना की सूचना तत्काल देने के बावजूद पुलिस अभी तक अपराधियों को गिरफ्तार नहीं कर पाई है। सीपीएम नेता ने कहा कि उनके घर पर पहले भी कई बार 'बीजेपी के गुंडों' ने हमला किया था। इस बीच, सीएम माणिक साहा ने गुरुवार को मीडिया से बात करते हुए कहा कि उन्होंने पुलिस महानिदेशक को चुनाव के बाद हुई हिंसा के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।

विपक्षी कांग्रेस और सीपीएम के नेतृत्व वाले वाम दलों ने बुधवार को बीजेपी समर्थकों और गुंडों द्वारा फैलाए गए आतंक के अभूतपूर्व शासन का हवाला देते हुए शपथ ग्रहण समारोह का बहिष्कार किया। कांग्रेस और वामपंथी नेताओं ने इससे पहले मुख्य सचिव जे.के. सिन्हा और पुलिस महानिदेशक अमिताभ रंजन से मुलाकात की और हिंसा की घटनाओं का विवरण देते हुए एक ज्ञापन सौंपा और अपराधियों के खिलाफ तत्काल सख्त कार्रवाई की मांग की।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;