शाहीन बाग की दादी ने पीएम मोदी को दी बधाई, कहा- जन्म नहीं दिया तो क्या, वो भी तो मेरा ही बेटा

एनआरसी-सीएए विरोध का चेहरा बनकर उभरीं बिलकिस दादी हापुड़ की रहने वाली हैं। उनके पति की मौत हो चुकी है। वह शाहीन बाग में अपने बहू-बेटों और पोते-पोतियों के साथ रहती हैं। उनके परिवार को भी खुशी है कि उनका नाम प्रधानमंत्री के साथ टाइम पत्रिका की लिस्ट में आया।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

आईएएनएस

दिल्ली के शाहीन बाग में नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के खिलाफ महीनों प्रदर्शन चला, जिसमें लाखों लोगों ने हिस्सा लिया। उस प्रदर्शन में दबंग दादियों के नाम से मशहूर 3 दादियां सबसे आगे-आगे थीं। इन्हीं तीनों दादियों में से एक, 82 वर्षीय बिलकिस दादी हाल में टाइम पत्रिका द्वारा दुनिया की 100 सबसे प्रभावशाली शख्सियतों में शुमार की गई हैं। इसी लिस्ट में पीएम मोदी का भी नाम शामिल है।

बिलकिस दादी को अपनी इस उपलब्धि पर जहां खुशी है, वहीं उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी शुभकामनाएं दीं। टाइम मैगजीन की ताजा लिस्ट में उन्हें 'आइकन' कैटेगरी में जगह दी गई है। बिलकिस दादी ने बताया, "मुझे बहुत खुशी है कि मुझे इस इज्जत से नवाजा गया। हालांकि मुझे उम्मीद नहीं थी। लेकिन ऊपर वाला कब किसे इज्जत दे दे, क्या पता?"

शाहीनबाग की दबंग दादी ने कहा, “मैंने सिर्फ कुरान शरीफ पढ़ा है, कभी स्कूल नहीं गई। लेकिन आज मुझे खुशी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी मेरी तरफ से बधाई, वो भी तो मेरा बेटा है। मैंने जन्म नहीं दिया, तो क्या हुआ। ऊपर वाला उन्हें लंबी उम्र दे और प्रधानमंत्री खुश रहें।" साथ ही उन्होंने कहा, "हमारी पहली लड़ाई कोरोना से है, दुनिया से बीमारी खत्म होगी, उसके बाद ही कुछ सोचा जाएगा।"

एनआरसी-सीएए विरोध का चेहरा बनकर उभरीं बिलकिस दादी जिला हापुड़ की रहने वाली हैं। उनके पति की करीब ग्यारह साल पहले मौत हो चुकी है। फिलहाल वह शाहीनबाग में अपने बहू-बेटों और पोते-पोतियों के साथ रहती हैं। उनके परिवार को भी इस बात की है खुशी है कि उनका नाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ दुनिया के प्रभावशाली लोगों के साथ आया।

गौरतलब है कि हाल में टाइम पत्रिका द्वारा जारी दुनिया के 100 प्रभावशाली लोगों की सूची में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फिर से जगह दी गई है। साथ ही इस लिस्ट में अभिनेता आयुष्मान खुराना और गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई भी शामिल हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia