दीपेंदर हुड्डा और केटीएस तुलसी पहुंचे राज्यसभा, बिहार, हरियाणा, छत्तीसगढ़ समेत कई राज्यों के आए नतीजे

राज्यसभा चुनाव की नामांकन प्रक्रिया खत्म होने के बाद अब कई राज्यों के नतीजे आने लगे हैं, जिसके तहत हरियाणा से कांग्रेस नेता दीपेंदर सिंह हुड्डा और छत्तीसगढ़ से कांग्रेस नेता केटीएस तुलसी और फूलू देवी नेताम का निर्विरोध चुनाव हुआ है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

देश के विभिन्न राज्यों से राज्‍य सभा की 55 सीटों के लिए 26 मार्च को होने वाले चुनावों के लिए नामांकन के बाद नाम वापस लेने की आखिरी तारीख आज 18 मार्च को खत्म हो गई। इसी के साथ कई राज्यो से निर्विरोध चुनाव के नतीजे भी आने शुरू हो गए हैं। हरियाणा से राज्यसभा की तीनों सीटों के नतीजे आ गए हैं। यहां से एक सीट पर कांग्रेस नेता दीपेंद्र सिंह हुड्डा निर्विरोध चुने गए हैं। उनके अलावा दो सीटों पर बीजेपी के उम्मीदवार राम चंदर जांगड़ा और दुष्यंत कुमार गौतम भी निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं।

बात करें छत्तीसगढ़ की तो यहां की दो सीटों पर भी निर्विरोध निर्विरोध चुनाव में कांग्रेस के केटीएस तुलसी और फूलो देवी नेताम ने जीत दर्ज की है। इसी तरह बिहार से राज्यसभा की सभी पांच सीटों पर निर्विरोध निर्वाचन हुआ है। यहां से जेडीयू से हरिवंश और रामनाथ ठाकुर, आरजेडी से प्रेमचंद गुप्ता और अमरेंद्र धारी सिंह और बीजेपी के विवेक ठाकुर निर्विरोध निर्वाचित घोषित किए गए हैं।

दक्षिणी राज्य तमिलनाडु में भी नामांकन दाखिल करने वाले सभी छह उम्मीदवार निर्विरोध जीत चुके हैं। इनमें डीएमके के त्रिची शिवा, एआर एलांगो और एंथियुर सेलवराज, जबकि एआईएडीएमके के केपी मुनुसामी और एम थंबीदुरई और तमिल मनिला कांग्रेस के जीके वासन की जीत का ऐलान किया गया है। इसी तरह पश्चिम बंगाल की पांच राज्यसभा सीटों पर भी निर्विरोध परिणाम घोषित हुए हैं। यहां की चार सीटों पर टीएमसी उम्मीदवार और एक सीट से सीपीआई उम्मीदवार को निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया गया है।

उधर ओडिशा से भी बीजू जनता दल के सभी चार उम्मीदवार राज्यसभा के लिए निर्विरोध चुन लिए गए है। इन चारों उम्मीदवारों में मुन्ना खां, सुजीत कुमार, ममता महंत एवं सुभाष सिंह शामिल हैं। यहा कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही दलों ने अपने उम्मीदवार नहीं दिए थे, जिससे मतदान कराने की जरूरत नहीं पड़ी और बीजेडी के चारों उम्मीदवार निर्विरोध चुन लिए गए।

बता दें कि राज्यसभा में खाली हो रहीं देश के 17 राज्यों की 55 सीटों के लिए 26 मार्च को मतदान होना है। चुनाव आयोग के कार्यक्रम के अनुसार 13 मार्च को नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि थी और आज 18 मार्च को नामांकन वापस लेने का आखिरी दिन था। जिसके बाद आज कई राज्यों के निर्विरोध निर्वाचन के नतीजे घोषित हो गए। बता दें कि 55 राज्यसभा सीटों में हरियाणा, बिहार, छत्तीसगढ़, तमिलनाडु और ओडिशा के अलावा गुजरात की 4, झारखंड में 2, मध्य प्रदेश की 3, राजस्थान की 3, जबकि पश्चिम बंगाल में 5, आंध्र प्रदेश की 4, तेलंगाना की 2, असम की 3, हिमाचल प्रदेश की 1, मणिपुर की 1 और मेघालय की 1 सीट शामिल हैं।

Published: 18 Mar 2020, 9:06 PM
लोकप्रिय