सावधान: कोविड के दोनों टीके लगवाने वाले लोगों की भी जा रही जान, डरा रहे दिल्ली के ये आंकड़े!

दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी में 5 से 9 जनवरी के बीच दर्ज की गई कुल 46 मौतों में से 11 लोगों को कोविड -19 के खिलाफ टीके की दोनों खुराक दी गई थी।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

आईएएनएस

दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी में 5 से 9 जनवरी के बीच दर्ज की गई कुल 46 मौतों में से 11 लोगों को कोविड -19 के खिलाफ टीके की दोनों खुराक दी गई थी। ऐसे में कोरोना के टीके को लेकर सवाल उठने लगे हैं कि क्या ये कोरोना वायरस पर उतने कारगर नहीं हैं जितना होना चाहिए? हालांकि इनमें से ज्यादातर मृतक पहले से ही किसी बड़े बिमारी के शिकार थे। बता दें कि राष्ट्रीय राजधानी में अब तक इस महीने में कुल 70 कोविड मौतें दर्ज की गई हैं। राजधानी शहर में लगातार दो दिन शनिवार और रविवार को 17 मौतें दर्ज की गई हैं।

पांच दिनों में हुई कुल 46 मौतों में से 34 में कैंसर और हृदय और यकृत रोग जैसी बीमारियां थीं। आंकड़ों के अनुसार, अस्पतालों में भर्ती होने के बाद कॉमरेडिडिटी वाले 21 लोग कोविड से संक्रमित हो गए। कुल मौतों में से 32 मरीजों को अस्पताल के आईसीयू वार्ड में भर्ती कराया गया था।


पिछले पांच दिनों में मरने वालों में आधे से ज्यादा 60 साल से अधिक उम्र के लोग थे। इनमें से 25 लोग 60 से अधिक आयु वर्ग के थे, जबकि 14 मरीज 41 से 60 आयु वर्ग के थे। 21 से 40 आयु वर्ग के पांच, जबकि 16 से 20 आयु वर्ग के एक और शून्य से 15 आयु वर्ग में एक की मौत हुई है।

आंकड़ों के अनुसार, कुल मौतों में से 12 ने अस्पताल में भर्ती होने के एक ही दिन में दम तोड़ दिया था। अस्पताल में दाखिल होने के एक दिन के भीतर 11 मरीजों की मौत हुई, भर्ती के दो दिन बाद 6 की मौत हुई, तीन से सात दिनों के भीतर 14 लोगों की मौत हो गई और तीन की मौत अस्पताल में भर्ती

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 11 Jan 2022, 1:33 PM