ओमिक्रॉन! दिल्ली में अपने घर में ही करें हैप्पी न्यू ईयर, नए साल और क्रिसमस की पार्टियों पर सरकार ने लगाई रोक

डीडीएमए (DDMA) ने नए साल पर होने वाले जश्न और क्रिसमस के दौरान जुटने वाली भीड़ पर रोक लगाने का आदेश दिया है। यानी साल के आखिर में इन दो बड़े मौके पर लोग इकट्ठा नहीं हो सकेंगे और त्योहार फीका ही रहेगा।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

दिल्ली में ओमिक्रॉन के लगातार बढ़ रहे मामलों के बीच दिल्ली सरकार ने नए साल (New Year) और क्रिसमस (Christmas) को लेकर नई गाइडलाइंस जारी की गई हैं। डीडीएमए (DDMA) ने नए साल पर होने वाले जश्न और क्रिसमस के दौरान जुटने वाली भीड़ पर रोक लगाने का आदेश दिया है। यानी साल के आखिर में इन दो बड़े मौके पर लोग इकट्ठा नहीं हो सकेंगे और त्योहार फीका ही रहेगा।

आपको बता दें, डीडीएमए ने दिल्ली के सभी जिलों के जिला अधिकारी और डीसीपी को ये आदेश दिए हैं कि दिल्ली में क्रिसमस और नए साल के मौके पर किसी तरह का जश्न न हो और किसी तरह की भीड़ का जमावड़ा न लगे। साथ ही जिला प्रशासन को रोजाना रिपोर्ट भी देने के लिए कहा गया है।


भारत में ओमिक्रॉन का कहर देखने को मिल रहा है। देश में कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वैरिएंट के अब कुल 213 केस हैं और सबसे ज्यादा मामले राजधानी दिल्ली में हैं। बता दें, ओमिक्रॉन के मामलों में अब तक महाराष्ट्र आगे था लेकिन दिल्ली ने अब उसे पीछे छोड़ दिया है। बुधवार को स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी की गई राज्यवार ओमिक्रॉन मामलों की सूची के मुताबिक, अब दिल्ली में इस वैरिएंट के सबसे ज्यादा 57 केस हैं और महाराष्ट्र में 54 मामले। आपको बता दें, राजधानी दिल्ली के 57 ओमिक्रॉन मरीजों में से 17 अब ठीक हो चुके हैं। वहीं, महाराष्ट्र में भी वायरस से संक्रमित 28 लोग अब स्वस्थ हो गए हैं। इन दोनों के बाद तेलंगाना सबसे ज्यादा ओमिक्रॉन केसों के मामले में तीसरे नंबर पर है। यहां 24 ओमिक्रॉन संक्रमित हैं।


इसके अलावा कर्नाटक में ओमिक्रॉन के 19, राजस्थान में 18, केरल में 15, गुजरात में 14, जम्मू-कश्मीर में 3, ओडिशा में 2, उत्तर प्रदेश में 2, आंध्र प्रदेश में 1, चंडीगढ़ में 1, लद्दाख में 1, तमिलाडु में 1 और पश्चिम बंगाल में भी 1 मामले दर्ज किए गए हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia