दिल्ली में ऑक्सीजन संकट बरकरार, मैक्स अस्पताल को मिली ऑक्सीजन, और का इंतजार

देश की राजधानी दिल्ली इस वक्त ऑक्सीजन की भारी किल्लत से जूझ रही है। कई अस्पतालों में कुछ घंटों का ऑक्सीजन स्टॉक है, जबकि कुछ जगह पर अंतिम वक्त में ऑक्सीजन पहुंचा है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

देश की राजधानी दिल्ली इस वक्त ऑक्सीजन की भारी किल्लत से जूझ रही है। कई अस्पतालों में कुछ घंटों का ऑक्सीजन स्टॉक है, जबकि कुछ जगह पर अंतिम वक्त में ऑक्सीजन पहुंचा है। दिल्ली के कई अस्पतालों द्वारा सरकार के सामने जल्द से जल्द ऑक्सीजन पहुंचाने की गुहार लगाई जा रही है।

घंटों इंतजार के बाद मैक्स हॉस्पिटल्स ग्रुप को शुक्रवार सुबह आईएनओएक्स से मैक्स (साकेत) अस्पताल के लिए ऑक्सीजन मिली। अस्पताल ने कहा, "हमें मैक्स साकेत और मैक्स स्मार्ट में आपातकालीन ऑक्सीजन आपूर्ति मिली है जो अगले 2 घंटे तक चलेगी।"

हालांकि, एक आधिकारिक बयान में मैक्स अस्पतालों ने कहा, "ऑक्सीजन की आपूर्ति अगले 3 घंटे तक चलेगी। हमें अभी अधिक ऑक्सीजन का इंतजार है।"

ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए एक एसओएस को यह कहते हुए बुलाया गया था कि अस्पताल गुरुवार देर रात (1 बजे) से ऑक्सीजन का इंतजार कर रहा है यहां 700 से अधिक मरीज अस्पताल में भर्ती हैं (मैक्स -साकेत) को ऑक्सीजन की तत्काल आवश्यकता है।

डीसीपी साउथ दिल्ली ने ट्वीट किया, "ऑक्सीजन ले जाने वाला वाहन मैक्स स्मार्ट तक पहुंच गया है। एक अन्य वाहन मैक्स ईस्ट वेस्ट के लिए रास्ते में है। वरिष्ठ अधिकारी स्थिति की निगरानी कर रहे हैं।"

पिछले तीन दिनों से राष्ट्रीय राजधानी में ऑक्सीजन की कमी के साथ दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने दिल्ली पुलिस को अस्पतालों में आपूर्ति के लिए ऑक्सीजन ले जाने वाले वाहनों के लिए एक ग्रीन कॉरिडोर देने का निर्देश दिया है। दिल्ली के कोविड -19 प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने राष्ट्रीय राजधानी के सभी अस्पतालों को सुचारू ऑक्सीजन आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए दो वरिष्ठ अधिकारियों को नियुक्त किया है।

कई सरकारी और निजी अस्पतालों से ऑक्सीजन की कमी के बारे में कई शिकायतें आ रही हैं। पिछले तीन दिनों से एक के बाद एक अस्पताल ने ऑक्सीजन की कमी के बारे में बताया है, खासकर देर रात के दौरान स्थिति ज्यादा खराब हो जाती है। ज्यादातर अस्पतालों में देर रात ऑक्सीजन की आपूर्ति की गई है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय