फांसी से बचने के लिए निर्भया के दोषी विनय शर्मा का नया पैंतरा, भूख हड़ताल के बाद अब जेल में खुद को किया घायल

खबरों के मुताबिक विनय शर्मा द्वारा दीवार से सिर टक्कर मारने के बाद जेल के अस्पताल से डॉक्टर को उसके सेल में ही बुलाया गया था। डॉक्टर ने उसके सिर पर पट्टी की थी। गौरतलब है कि विनय पहले भी जेल में खुदकुशी की कोशिश कर चुका है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

निर्भया के चारों गुनहगारों को 3 मार्च को दिल्ली की तिहाड़ जेल में फांसी दी जानी है। फांसी से पहले चार दोषियों में से एक निवय शर्मा ने तिहाड़ जले में खुद को चोट पहुंचाने की कोशिश की है। इस संबंध में तिहाड़ जेल के अधिकारी ने जानकारी दी है। अधिकारी ने बताया कि निर्भया केस में दोषियों में से एक विनय शर्मा ने 16 फरवरी को अपने सेल की दीवार से अपने सिर में टक्कर मारकर खुद को चोट पहुंचाने की कोशिश की। उसे हल्की चोटें आई थीं।

खबरों के मुताबिक, विनय शर्मा द्वारा दीवार से सिर टक्कर मारने के बाद जेल के अस्पताल से डॉक्टर को उसके सेल में ही बुलाया गया था। डॉक्टर ने उसके सिर पर पट्टी की थी। गौरतलब है कि विनय पहले भी जेल में खुदकुशी की कोशिश कर चुका है। विनय ने तिहाड़ जेल में भूख हड़ताल भी की थी। फांसी दिए जाने से पहले तिहाड़ जेल में दोषियों के सेल में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। हर दोषी की सुरक्षा पर फिलहाल दो-दो सुरक्षा कर्मी तैनात हैं।

इससे पहले दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने चोरों दोषियों के खिलाफ डेथ वारंट जारी किया था। कोर्ट ने विनय, मुकेश, अक्षय और पवन गुप्ता को 3 मार्च को फांसी देने की तारीख तय की है। विनय शर्मा की राष्ट्रपति द्वारा दया याचिका खारिज करने के फैसले को चुनौती देने वाली याचिका सुप्रीम कोर्ट खारिज कर चुकी है। कोर्ट ोने कहा था कि सारी फाइलें देखकर विनय की दलीलें खारिज की जाती हैं।

लोकप्रिय