दिल्ली: AAP के इन नेताओं को रास नहीं आया जल बोर्ड का पद! कोई गया जेल तो कई पार्टी से हुए बाहर

जल मंत्री रहते हुए पहले सत्येंद्र जैन जेल गए और अब जल बोर्ड का प्रभार रहते उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया जेल गए है। जबकि जल बोर्ड का प्रभार देखने के दौरान कपिल मिश्रा को मंत्री पद से बर्खास्तगी का सामना करना पड़ा था।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया की गिरफ्तारी के बाद दिल्ली सरकार के लिए भी मुश्किलें और बढ़ती दिखाई दे रही हैं। पहले सत्येंद्र जैन अब मनीष सिसोदिया की गिरफ्तार के बाद सरकार की दिक्कतें बढ़ने लगी है। लेकिन इन सब में एक बात दिलस्चप बात यह है कि दोनों नेता जल बोर्ड का प्रभार संभाल चुके हैं। हालांकि, ये दोनों नेता जल बोर्ड के नहीं, बल्कि अन्य मामले में जेल गए हैं।

जल मंत्री रहते हुए पहले सत्येंद्र जैन जेल गए और अब जल बोर्ड का प्रभार रहते उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया जेल गए है। जबकि जल बोर्ड का प्रभार देखने के दौरान कपिल मिश्रा को मंत्री पद से बर्खास्तगी का सामना करना पड़ा था।

साल 2016 मंत्री बनाए गए कपिल मिश्रा को सिसोदिया की जगह जल बोर्ड का मंत्री बनाया गया। उनको करीब तीन वर्ष बाद मंत्री से हाथ धोेना पड़ा। जल बोर्ड के संबंध में बयानबाजी करने के कारण मुख्यमंत्री उनसे नाराज हो गए थे और उन्होंने मिश्रा को अपनी मंत्रिपद से बर्खास्त कर दिया था।


साल 2020 में विधानसभा चुनाव के बाद दोबारा आप की सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जल बोर्ड का प्रभार स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन को दे दिया। जैन के पिछले सा हवाला मामले में जेल जाने के बाद मुख्यमंत्री ने जल बोर्ड समेत उनके पास सभी विभाग उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को दे दिए।

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया अन्य विभागों की तरह जल बोर्ड का प्रभार भी बखूबी संभाल रहे थे, मगर सात-आठ माह से उन पर आबकारी नीति के संबंध में आरोप लगने शुरू हुए और एक बार सीबीआई ने उनको पूछताछ के लिए बुलाया था। बाक में उनकी गिरफ्तारी हो गई। अब देखना है कि जल बोर्ड का प्रभार किस मंत्री को मिलेगा।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;