प्रदर्शनकारी किसानों की मौत पर मुआवजे से इनकार, राहुल बोले- जिन्होंने अपनों को खोया, उनके आंसू में सबकुछ दर्ज है

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को नए तीन कृषि कानूनों के विरोध में मारे गए किसानों को कोई मुआवजा नहीं दिए जाने को लेकर केंद्र पर कटाक्ष करते हुए कहा कि अपने प्रियजनों को खोने वालों के आंसू में सब कुछ दर्ज है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को नए तीन कृषि कानूनों के विरोध में मारे गए किसानों को कोई मुआवजा नहीं दिए जाने को लेकर केंद्र पर कटाक्ष करते हुए कहा कि अपने प्रियजनों को खोने वालों के आंसू में सब कुछ दर्ज है। उन्होंने हैशटैग फार्मरपोस्ट के साथ हिंदी में एक ट्वीट में कहा, "जिन लोगों ने अपनों को खोया उनके आंसुओं में सब कुछ दर्ज है।"

उन्होंने एक समाचार रिपोर्ट भी संलग्न किया जिसमें दावा किया गया था कि सरकार ने एक लिखित उत्तर में कहा कि उसके पास 'ऐसा कोई रिकॉर्ड नहीं है'। सरकार से पूछा गया था कि क्या उसे पता है कि पिछले नवंबर से चल रहे आंदोलन के दौरान कई आंदोलनकारी किसान मारे गए हैं या बीमार पड़ गए हैं।


रिपोर्ट में कहा गया है कि मुआवजे का कोई प्रस्ताव नहीं है।

राष्ट्रीय राजधानी की कई सीमाओं पर किसान पिछले साल 26 नवंबर से तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं। किसान इन कानूनों को वापस लेने और फसलों के लिए एमएसपी पर कानून बनाने की मांग कर रहे हैं।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 21 Jul 2021, 4:29 PM