देवरिया जेल कांड: डीएम की छापेमारी में सीसीटीवी फुटेज के साथ छेड़छाड़ का खुलासा, जांच के लिए कमेटी गठित

यूपी के देवरिया की जेल में 26 दिसंबर को 25-30 लोगों द्वारा एक शख्स को कथित रूप से पीटे जाने के मामले पर जिला मजिस्ट्रेट अमित किशोर ने कहा कि सीसीटीवी रिकॉर्डिंग के साथ छेड़छाड़ की गई है। हमने घटना का संज्ञान ले लिया है। जांच कर रिपोर्ट दाखिल करने के लिए कमेटी गठित कर दी गई है।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

यूपी में सीएम योगी आदित्यनाथ भले ही कानून व्यवस्था को लेकर जितना भी दावा कर लें लेकिन जेल बंद अतीक अहमद और उसके गुर्गों ने सभी दावों की धज्जियां उड़ा कर रख दी है। हालात यह है कि जेल में बंद अपराधी योगी सरकार के समांतर अपना राज चला रहे हैं। ताजा मामला देवरिया जेल का है। इस जेल में बंद माफिया अतीक अहमद बेखौफ होकर कारोबारियों से न सिर्फ रंगदारी वसूल रहा है, बल्कि उन्हें जेल में ही बुलाकर मारपीट कर रहा है। खबर सामने आने के बाद प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने रविवार रात भारी सुरक्षा बलों के साथ जेल में दो घंटे छापेमारी की। इस दौरान सीसीटीवी फुटेज से छेड़छाड़ की बात सामने आई।

जिला मजिस्ट्रेट अमित किशोर ने कहा, “सीसीटीवी रिकॉर्डिंग के साथ छेड़छाड़ की गई है। हमने घटना का संज्ञान ले लिया है। जांच कर रिपोर्ट दाखिल करने के लिए कमेटी गठित कर दी गई है।” कमेटी सीसीटीवी फुटेज डिलीट किए जाने के मामले में जेल प्रशासन की भूमिका की भी जांच करेगी।

वहीं, देवरिया जेल के अधीक्षक डीके पांडे मोहित जायसवाल के आरोपों को खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि मारपीट की सूचना पूरी तरह गलत है। दोनों के बीच नियम कायदों के मुताबिक मुलाकात हुई। जायसवाल ने इस संबंध में उन्हें कोई शिकायत नहीं की है।

बता दें कि देवरिया जेल में बंद अतीक अहमद पर आरोप है कि लखनऊ के एक कारोबारी को अगवा करवाकर देवरिया जेल बुलवाया। उसके बेटे उमर और 20-25 लोगों ने इस कारोबारी से जेल के बैरक में जमकर मारपीट की, उसके हाथों की उंगलियां तोड़ दीं। बेरहमी से पिटाई के बाद इस कारोबारी से उसकी कंपनियों के मालिकाना हक अपने आदमियों के नाम लिखवाने के बाद अतीक अहमद ने उसकी फार्चुनर गाड़ी छीन ली और उसे जेल के बाहर फिंकवा दिया। पुलिस के मुताबिक मोहित ने एफआईआर में जो जानकारी दी है उसमें कहा गया है कि अतीक अहमद ने जेल में ही रिवाल्वर की नोंक पर उसकी पांच कंपनियों का मालिकाना हक अपने आदमियों के नाम करा लिया और कई सादे कागजातों पर भी दस्तखत भी करवाये।

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश: योगी राज में बेकाबू माफिया अतीक, कारोबारी को अगवा कर जेल में पीटा, कंपनियां कब्जाई, जेल पर छापा

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;