मुश्किल में धीरेंद्र शास्त्री! बागेश्वर धाम में बच्ची की मौत पर आयोग ने डीएम-एसपी से किया जवाब तलब, मांगी रिपोर्ट

बच्ची की परिजनों का कहना था कि हम डेढ़ साल से बागेश्वर धाम आ रहे हैं। इस बार 17 फरवरी शनिवार से बच्ची को परेशानी ज्यादा हुई तो उसे बाबा जी के पास ले आए थे। बाबा ने भभूति दी, लेकिन वह नहीं बची, बाबा ने कहा कि बच्ची शांत हो गई, इसे ले जाओ।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बागेश्वर महाराज पंडित धीरेंद्र शास्त्री की लगातार मुश्किलें बढ़ती जा रही है। अब बागेश्वर धाम में एक 10 साल की बच्ची की मौत पर मध्य प्रदेश मानव अधिकार ने जिले के डीएम-एसपी को तलब किया है। आयोग ने इनसे रिपोर्ट मांगी है।

दरअसल, राजस्थान के बाड़मेर से एक मां अपनी बच्ची को लेकर बागेश्वर धाम पहुंची थी। बच्ची को मिर्गी की बीमारी थी। परिजनों का कहना है कि बच्ची को बाबाजी ने भभूति भी दी, फिर भी वो नहीं बची। बाबाजी ने हमें कहा कि इसे लेकर जाओ। परिजनों का कहना था कि शनिवार रात भर बच्ची जागती रही। उसे मिर्गी के दौरे भी आए। रविवार दोपहर में उसने आंखें बंद की तो हमें लगा कि उसे नींद आ गई, लेकिन शरीर में कोई हलचल नहीं हुई। हमें शक हुआ तो जिला अस्पताल लेकर आए, यहां आने पर डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

बच्ची की परिजनों का कहना था कि हम डेढ़ साल से बागेश्वर धाम आ रहे हैं। इस बार 17 फरवरी शनिवार से बच्ची को परेशानी ज्यादा हुई तो उसे बाबा जी के पास ले आए थे। बाबा ने भभूति दी, लेकिन वह नहीं बची, बाबा ने कहा कि बच्ची शांत हो गई, इसे ले जाओ। अब इस पूरे मामले में मध्य प्रदेश मानवाधिकार आयोग ने छत्ररपुर जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक से रिपोर्ट तलब की है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


/* */