हालात

बीजेपी की वेबसाइट पर चोरी का डिज़ाइन, टेम्पलेट बनाने वाली कंपनी ने कहा, “चौकीदार की पार्टी ने चुराई हमारी मेहनत”

आंध्र प्रदेश की एक वेब डिज़ाइन कंपनी ने बीजेपी पर उसका टेम्पलेट चोरी कर अपनी अधिकारिक वेबसाइट परइस्तेमाल करने का आरोप लगाया है। कंपनी का कहना है कि बीजेपी ने न सिर्फ उसकाटेम्पलेट चुराया है बल्कि बैक लिंक भी हटा दिया है जिससे उसे इस टेम्पलेट काक्रेडिट मिलता।

बीजेपी वेबसाइट का स्क्रीनशॉट

नवजीवन डेस्क

बीजेपी की अधिकारिक वेबसाइट पिछले करीब तीन सप्ताह से बंद थी। विशेषज्ञों और आम लोगों की राय थी की बीजेपी की वेबसाइट हैक हो चुकी है और तमाम कोशिशों के बाद भी वेबसाइट पर उपलब्ध डेटा वापस हासिल नहीं किया जा सका। अभी हाल ही में बीजेपी ने अपनी वेबसाइट दोबारा शुरु की, लेकिन इस पर एक साधारण सा टेम्पलेट है जिसके बैनर में पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की फोटो के अलावा सिर्फ लोकसभा उम्मीदवारों के नामों की सूची है।

अब , W3Layouts नाम की आंध्र प्रदेश के नेल्लूर स्थित एक वेब डिज़ाइन कंपनी ने दावा किया है कि यह टेम्पलेट उसके द्वारा विकसित किया गया है और बीजेपी ने इसे बिना अनुमति न सिर्फ इस्तेमाल किया बल्कि टेम्पलेट में दिया गया बैकलिंक भी हटा दिया है जिससे इस डिज़ाइन को विकसित करने का पता चलता है। कंपनी ने इस बारे में बीजेपी को टैग करते हुए ट्वीट भी किया था कि “अपनी आईटी सेल से कहिए कि इस टेम्पलेट के बारे में हमसे संपर्क करें।”

इसके बाद भी कंपनी ने एक ट्वीट के जरिए कहा कि, “हम सिर्फ एक शुक्रिया चाहते थे और बदले में आपको पूरा टेम्पलेट और इसपर लगा बैकलिंक हटाने की इजाजत दे देते। लेकिन आपने तो हमारे इस खूबसूरत टेम्पलेट से कोड हडाकर इसे बरबाद कर दिया।”

W3Layouts का कहना है कि बीजेपी ने इस टेम्पलेट को कोड में से उसका नाम भी हटा दिया है। W3Layouts ने अपनी वेबसाइट पर एक ब्लॉग पोस्ट की है और बीजेपी पर टेम्पलेट चोरी का आरोप लगाया है। कंपनी ने लिखा है कि, “जब हमने बीजेपी की अधिकारिक वेबसाइट पर अपना टेम्पलेट देखा तो शुरु में हमें खुशी हुई कि देश की बड़ी राजनीतिक पार्टी हमारा डिज़ाइन इस्तेमाल कर रही है। लेकिन हम इस बात से बेहद नाराज हैं कि बीजेपी ने हमें क्रेडिट दिए बिना ही बैकलिंक हटा दिया।”

ब्लॉग में आगे लिखा गया है कि, “बैंकलिंक हटाए जाने के बाद साफ हो गया है कि बीजेपी अब भी हमारा लेआउट कोड इस्तेमाल कर रही है क्योंकि यह पेज के सोर्स कोड में मौजूद है।” कंपनी ने कहा है कि, “अगर वे हमसे इस डिज़ाइन के बारे में बात करते तो हम उन्हें यह टेम्पलेट दे देते, लेकिन हमें इस बात पर आश्चर्य है कि ऐसी पार्टी जिसके मुखिया खुद को चौकीदार बताते हैं, उसने हमारी खून-पसीने की मेहनत को चुराया। इतना ही नहीं हमारे दावे को भी गलत साबित करने की कोशिश की।”

कंपनी ने एक और ब्लॉग में कहा कि कैसे उसके पूर्व की पोस्ट को प्रचार पाने का हथकंडा साबित करने की कोशिश की गई।

बीजेपी वेबसाइट पर इस्तेमाल हुए टेम्पलेट के चोरी का होने की बात सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर इसकी आलोचना शुरु हो गई। एथिकल हैकर इलियट एल्डर्सन ने लिखा कि, “बीजेपी की वेबसाइट हैक हुई थी, बीजेपी के पास इसका कोई बैकअप नहीं था, तीन सप्ताह तक कोशिश करने के बाद बीजेपी ने W3layouts का टेम्पेलट इस्तेमाल किया और उसे चोरी और नकल करते हुए उसे इसका क्रेडिट भी नहीं दिया।”

Published: 25 Mar 2019, 11:15 AM
लोकप्रिय