आजादी को भीख बताने वाली कंगना की मुश्किलें बढ़ीं, बिहार कांग्रेस ने खोला मोर्चा, थाने में दर्ज कराया केस

कांग्रेस नेताओं ने कहा कि कंगना का यह बयान महात्मा गांधी, सुभाष चंद्र बोस, चंद्रशेखर आजाद, भगत सिंह सहित अन्य वीर महापुरूषों द्वारा आजादी के लिए की गई लड़ाई को शर्मिदा करने वाला है और भारत की अखंडता, संप्रभुता और गौरवशाली इतिहास पर सवाल खड़ा करता है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

हाल के दिनों में फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत द्वारा 1947 में मिली आजादी को भीख बताने वाले बयान को लेकर बिहार कांग्रेस ने शनिवार को मोर्चा खोल दिया है। बिहार कांग्रेस ने राष्ट्रपति से अभिनेत्री से पद्म पुरस्कार वापस लेने की मांग की है। कांग्रेस ने इस मामले को लेकर पटना के एस के पुरी थाना में एक मामला भी दर्ज करवाया है।

बिहार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व विधायक ऋषि मिश्रा, बिहार युवक कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ललन कुमार, कांग्रेस कमिटी सदस्य शंकर स्वरूप पासवान ने शनिवार को कहा कि कंगना रनौत का आजादी को लेकर दिया गया बयान लाखों स्वतंत्रता सेनानियों का अपमान है और साथ ही देश का भी अपमान है।

कांग्रेस नेताओं ने कहा कि हम सबने यही पढ़ा था कि देश को आजादी वर्ष 1947 में मिली है, पर कंगना रनौत 2014 में देश को आजादी मिली बता रही है। फिल्म अभिनेत्री का यह बयान महात्मा गांधी, सुभाष चंद्र बोस, चंद्रशेखर आजाद, भगत सिंह सहित अन्य वीर महापुरूषों द्वारा आजादी के लिए की गई लड़ाई को शर्मिदा करने वाला है।


कांग्रेस नेताओं ने कहा कि कंगना रनौत का यह बयान भारत की अखंडता, संप्रभुता और गौरवशाली इतिहास पर एक बड़ा सवाल खड़ा करता है। उन्होंने कहा कि कंगना के खिलाफ उचित धाराओं के तहत मामला दर्ज करने और कठोर कार्रवाई करने को लेकर पटना के एस के पुरी थाना में आवेदन दिया गया है।

नेताओं ने रनौत के बयान को लेकर न्यायलय और देश की संवैधानिक संस्थाओं से भी ऐसी बयानबाजी के ऊपर संज्ञान लेने क अनुरोध किया और बयान देने वालों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की। इस संवाददाता सम्मेलन में कांग्रेस के पूर्व महासचिव आसिफ गफूर, कांग्रेस के पूर्व प्रवक्ता राकेश कुमार, पूर्व लोकसभा प्रत्याशी शाश्वत केदार पांडेय भी उपस्थित रहे। नेताओं ने कहा कि फिल्म अभिनेत्री से पद्म पुरस्कार वापस होना चाहिए।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia