कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों पर बूस्टर खुराक को लेकर चर्चा तेज, जानें क्या कहते हैं शीर्ष स्वास्थ्य विशेषज्ञ

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा कि बूस्टर खुराक पर निर्णय केवल विशेषज्ञ की सिफारिश के आधार पर लिया जाएगा, यह कहते हुए कि दोनों खुराक के साथ वयस्क टीकाकरण कार्यक्रम को जल्द से जल्द पूरा करना प्राथमिकता है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

शीर्ष स्वास्थ्य विशेषज्ञों के बीच बूस्टर खुराक के बारे में चर्चा तेज हो गई है, क्योंकि वे कॉमरेबिडिटी वाले लोगों और स्वास्थ्य कर्मियों को इसकी सलाह देते हैं। कुछ का यह भी तर्क देते हैं कि प्राथमिकता पूरी आबादी को पहले टीकों की दोनों खुराक साथ लगाने की होनी चाहिए।

बढ़ते संक्रमण को रोकने के प्रयास में अमेरिकी सरकार ने शुक्रवार को सभी वयस्कों के लिए कोविड बूस्टर शॉट शुरू किए।

हालांकि, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा कि बूस्टर खुराक पर निर्णय केवल विशेषज्ञ की सिफारिश के आधार पर लिया जाएगा, यह कहते हुए कि दोनों खुराक के साथ वयस्क टीकाकरण कार्यक्रम को जल्द से जल्द पूरा करना प्राथमिकता है।


इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च में महामारी विज्ञान और संक्रामक रोग विभाग के प्रमुख डॉ. समीरन पांडा ने आईएएनएस से बात करते हुए कहा कि वैज्ञानिक साक्ष्य के आधार पर कोविड बूस्टर खुराक पेश की जा सकती है, लेकिन इस बार हमारा ध्यान कुल पर केंद्रित होना चाहिए, देश भर में दोनों खुराकों के साथ टीकाकरण।

पैन फोर्टिस मेडिकल काउंसिल के अध्यक्ष पद्मश्री डॉ. अशोक सेठ ने आईएएनएस से कहा, हमें बूस्टर खुराक देने में अमेरिका का अनुसरण नहीं करना चाहिए। इसके बजाय, हमें टीकाकरण की दूसरी खुराक पर ध्यान देने की जरूरत है जो पीछे रह गई है। एक बार हम प्रशासन शुरू कर देंगे। बूस्टर खुराक से हमारे सामूहिक टीकाकरण कार्यक्रम में बाधा आ सकती है जिसे हम सहन नहीं कर सकते।

उन्होंने अमेरिका में बूस्टर डोज का कारण बताते हुए कहा कि डेल्टा वैरिएंट से यूरोपीय देशों में संक्रमण हो रहा है और वहां बूस्टर डोज का भी यही कारण है। हालांकि, भारत अब उस चरण को पार कर चुका है।

हालांकि, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने देश भर में स्वास्थ्यकर्मियों के लिए तीसरी बूस्टर खुराक की मांग की है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia