दूसरी बार पीएम बनने वाले मोदी को आर्थिक मोर्चे पर बड़ा झटका, खत्म होगी अमेरिका से व्यापार की छूट

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि भारत को जनरलाइज्ड सिस्टम ऑफ प्रेफरेंसेज (जीएसपी) से बाहर करने का फैसला 5 जून से लागू हो जाएगा। क्योंकि, भारत ने अपने बाजार में अमेरिका को बराबर सेवा देने का भरोसा नहीं दिया है।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

दूसरी बार प्रधानमंत्री पद संभालने के बाद पीएम मोदी को अमेरिका से बड़ा झटका लगा है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शनिवार को कहा कि भारत को मिलने वाले जीएसपी दर्जे को खत्म करने के फैसले से अमेरिका पीछे नहीं हटेगा। इसका मतलब ये कि अमेरिका से व्यापार में मिली छूट अब खत्म हो जाएगी। डोनाल्ड ट्रंप का कहना है कि भारत इन देशों की सूची से पांच जून 2019 को बाहर हो जाएगा।

जेनरलाइज्ड सिस्टम ऑफ प्रिफरेंसेज या सामान्य तरजीही प्रणाली (जीएसपी) अमेरिका की ओर से बाकी देशों को बिजनेस में दी जाने वाली छूट की सबसे पुरानी और बड़ी प्रणाली है। जीएसपी की व्यवस्था का मकसद देशों के आर्थिक विकास को बढ़ावा देने का है। 2017 में भारत को इस व्यवस्था का सबसे ज्यादा फायदा मिला था। उसके 5.7 अरब डॉलर के उत्पादों को टैक्स से छूट मिली थी।

4 मार्च को ट्रंप ने इस बात की घोषणा की थी कि वह जीएसपी प्रोग्राम से भारत को बाहर करने वाले हैं। इसके बाद 60 दिनों की नोटिस अवधि थी जो तीन मई को खत्म हो गई। हाल ही में ट्रंप ने कहा था कि भारत ने अब तक यह आश्वासन नहीं दिया है कि वह अपने बाजारों में अमेरिका को बेहतर पहुंच देगा।

उन्होंने ऐलान के समय अमेरिकी मोहर साइकिल हार्लें डेविडसन मोटर साइकिल का उदाहरण देते हुए कहा था, “जब हम भारत को मोटर साइकिल भेजते हैं, तो उस पर 100 फीसदी का शुल्क लगाया जाता है। लेकिन जब भारत हमें मोटर साइकिल निर्यात करता है तो हम कुछ भी शुल्क नहीं लगाते।’ उनका आगे कहा था कि वे बराबरी का व्यवहार चाहते हैं।

ट्रंप ने इस संबंध में अमेरिका के तमाम शीर्ष सांसदों की अपील ठुकराते हुए यह फैसला लिया है। सांसदों का कहना था कि इस कदम से अमेरिकी उद्योगपतियों को प्रतिवर्ष 30 करोड़ डॉलर का अतिरिक्त शुल्क देना होगा।

Published: 1 Jun 2019, 11:33 AM
लोकप्रिय