रोहिणी कोर्ट ब्लास्ट केस में DRDO वैज्ञानिक गिरफ्तार, पड़ोसी वकील को मारने के लिए विस्फोटक लगाने का आरोप

दिल्ली पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने आज बताया कि 17 दिसंबर को हमने भारत भूषण कटारिया नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया है जो डीआरडीओ में वैज्ञानिक है। तलाशी लेने के दौरान उसके घर से बम बनाने की सामग्री जैसे छर्रे और अन्य आपत्तिजनक सबूत बरामद किए गए हैं।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

राजधानी दिल्ली के रोहिणी कोर्ट में इसी महीने 9 दिसंबर को हुए कम तीव्रता वाले विस्फोट के मामले में पुलिस ने रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) के एक वैज्ञानिक को गिरफ्तार किया है। दिल्ली पुलिस ने बताया कि वैज्ञानिक ने एक वकील से बदला लेने के लिए उसे मारने की नीयत से कोर्ट रूम में विस्फोटक रखा था। पुलिस अब वैज्ञानिक से पूछताछ कर आगे की जांच कर रही है। कोर्ट रूम संख्या 102 में हुए विस्फोट में एक व्यक्ति घायल हो गया था।

दिल्ली के पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने इस मामले में आज बताया कि कल 17 दिसंबर को हमने एक भारत भूषण कटारिया (47 वर्ष) नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया गया है जो डीआरडीओ में वैज्ञानिक है। तलाशी लेने के दौरान उसके घर से बम बनाने की सामग्री जैसे छर्रे और अन्य आपत्तिजनक सबूत बरामद किए गए हैं।


राकेश अस्थाना ने बताया कि भारत भूषण कटारिया को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। पुलिस ने बताया कि कटारिया ने कोर्टरूम के अंदर एक टिफिन बॉक्स के अंदर विस्फोटक लगाया था क्योंकि वह अपने एक पड़ोसी को मारना चाहता था, जो एक वकील है। इसके पीछे की वजह वकील के साथ लंबी कानूनी लड़ाई थी। राकेश अस्थाना ने कहा कि शायद, घटना वकील को नुकसान पहुंचाने के लिए हुई।

दिल्ली पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना के अनुसार, घटना वाले दिन आरोपी दो बैग लेकर कोर्टरूम में सुबह 9.33 बजे दाखिल हुआ, जिनमें से एक बैग वह कोर्टरूम में छोड़ आया। वह कोर्ट परिसर से 10.35 बजे निकला। इसके बाद उसने बाइक के रिमोट कंट्रॉल से बैग में धमाका कर दिया। पुलिस ने बताया कि दोनों ही पक्षों ने एक-दूसरे पर कई केस दर्ज किए हैं। वे पड़ोसी हैं और एक ही इमारत में रहते हैं। प्राथमिक जांच में लगता है कि कटारिया वकील से नफरत करता है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia